विकलांग कर्मचारी पर लम्पी वायरस की रोकथाम का भार, लापरवाही पर एक कर्मचारी को हटाया

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

विकलांग कर्मचारी पर लम्पी वायरस की रोकथाम का भार, लापरवाही पर एक कर्मचारी को हटाया

पशु चिकित्सा विभाग के विकलांग कर्मचारी घर-घर पहुँच कर, कर रहा ईलाज
देहात मे कई केस आ रहे सामने ने, लापरवाही पर एक कर्मचारी को हटाया
    बांसवाडा/राजस्थान।। राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ उपखंड क्षेत्र में बेजुबान पशुओं पर लम्पी वायरस का कहर इन दिनो जारी है। इस बिमारी के चलतें पशुपालकों में मायुसी छाई हुई है। कई पशु इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। कुशलगढ़ उपखंड क्षेत्र के गांव भवरकोट में रमेश पुत्र नरसिंग, कालिया पुत्र रसिया, धारु  पुत्र तोलसिंह, तोलहिंह चोखा व पांगला के घरों में कुल 8 मवेशी, वहीं घरतारा, रिछवानी छापरी बावलियापाडा मोहकमपुरा सहित आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में लम्पी वायरस पेर पसार चुका है। वहीं पशुपालन विभाग ने इस वायरस के आने से घर-घर जाकर ईलाज करना भी शुरू कर दिया है। 
  रिछवानी के मांगीलाल कटारा ने बताया कि लम्पी वायरस के कारण मवेशियों के शरीर पर इसके लक्षण देखने को मिल रहें हैं। मांगीलाल कटारा ने बताया कि 12 दिन पहले पशु पालन विभाग के कर्मचारी प्रताप डामोर को फोन पर मवेशियों में फेले लम्पी वायरस की सूचना टेलीफोन से दी गई थी, पशु पालन विभाग के कर्मचारी ने इलाज करा, लेकिन बिमारी पर कोई अंकुश नहीं लगा, वहीं लापरवाही के चलते प्रताप को कुशलगढ़ क्षेत्र से हटाकर, अन्यत्र जगह भेज दिया गया है। आपकों बता दे की कुशलगढ़ क्षेत्र में बिखरी आबादी हैं। वहीं रामगढ़, रिछवानी भंवरकोट जेसे जगहों पर एक पेर से विकलांग बहादुर गणावा जो कि पशुपालन विभाग में बतोर कंपाउंडर नियुक्त है, वह पशुपालकों के घरों तक जाकर मवेशियों का ईलाज कर रहे है।  
   रिछवानी के ही मांगीलाल कटारा ने बताया कि पशुपालन विभाग को गांव-गांव में केंप लगाकर मवेशियों का ईलाज करना चाहिए ताकी इस वायरस के कारण मुक-बधिर मवेशियों की मोत ना हो। वहीं समय पर ईलाज होने के बाद मवेशियों को इस बिमारी से छुटकारा मिल सके। कुशलगढ़ पशुपालन विभाग के चिकित्सा अधिकारी यशवर्धन सिंह ने बताया की लम्पी वायरस को लेकर पशुपालन विभाग पुरी तरह सक्रिय हैं। उन्होंने कहा कि हमारी टीम गांव-गांव जाकर मवेशियों का ईलाज कर रहीं हैं। सिंह ने बताया कि ईलाज पुरी तरह निशुल्क है, वहीं प्रताप डामोर को रामगढ़ से लापरवाही के चलते हटा दिया गया है। ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्र बड़ा है, ऐसे में एक विकलांग कर्मचारी के कंधों पर ईलाल टेडी खीर सा दिखाई देता नजर आ रहा है। ग्रामीणों ने प्रशासन व पशुपालन विभाग के अधिकारियों से बीमारी की रोकथाम के लिए स्टाफ बढ़ाने की बात कही है। 
पशुपालन विभाग ले रहा हल्के मे
क्षेत्रवासियो ने पशुओ मे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने हेतु टिकाकरण की रखी मांग
पत्रकार ने घरेलू गाय मे लक्षण देख विभाग को दी सूचना
  राजस्थान के बांसवाडा जिले के ग्रामीण अंचलों में लम्पी वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिले की कुशलगढ पंचायत समिति के छोटी सरवा मे लंबे समय से आयुर्वेदिक दवाई का निशुल्क वितरण से कई पशुओं में सुधार देखा गया है।  
   
   कोरोना की तरह जनजातीय क्षेत्र मे पशुओ विशेषकर गायो मे फैले लंपी वायरस महामारी अपने पैर पसार चुकी है। लंपी वायरस को लेकर एक के बाद एक गांवो मे मामले सामने आ रहे है, जिले भर मे सैंकडो गोवंश मरने के साथ वायरस पूरी तरह फैल चुका है। कुशलगढ सहित खेडा धरती इलाके के गांवो मे लंपी वायरस के मामले सामने आ चुके है। अकेले बावलियापाडा पशु एलएसए महेश सिंगाड की माने तो दस केस सामने आए है। करीब-करीब सभी रिकवर है, वही छोटी सरवा क्षेत्र मे भी दो सप्ताह पहले से गायो मे लंपी वायरस के लक्षण दिखना शुरू होकर गाये बीमार चल रही है। 
Lampi Virus
  मोहकमपुरा मे भी रविवार को भंवरदा रोड स्थित पत्रकार जगदीश चावडा ने अपनी घरेलू गाय मे सुबह चमडी पर उभरते चकते के निशान देखकर स्थानिय बावलियापाडा मे कार्यरत एलएसए महेश सिंगाड को इसकी जानकारी दी, जिन्होने लंपी के लक्षण बताए बाद मे सूचना पर मोहकमपुरा पशु चिकित्सा एलएसए मुकेश पहुंचे और एंटीबाइटिक के साथ ईलाज किया। जगदीश चावडा ने समस्त क्षेत्रवासियो से इस महामारी मे लापरवाही नही बरत कर तुरंत सूचना संबधित पशु चिकित्सालय या सब सेंटर पर देकर अपने पशुओ का इलाज करवाने को कहा। 
Lampi Virus
  चावडा ने बताया कि ईलाज के अलावा नीम के पत्ते का धूंआ लगातार चालू करके नीम और फिटकरी को पानी मे उबालकर ठंडा होने पर सक्रमित के शरीर पर छिडकाव करने व पशुघर मे छिडकाव करने से वायरस रोकथाम मे मदद मिलती है। 
छोटी सरवा मे विप्र फाउंडेशन सूरत के सहयोग से लंपी वायरस दवाई का हो रहा निशुल्क वितरण
  इधर छोटी सरवा क्षेत्र मे भी लंपी वायरस फैलने पर विप्र फाउंडेशन सूरत द्वारा होम्योपैथिक दवाई डॉक्टर हेतल बेन भयानी द्वारा सलाह लेकर बनाई जा रही है, जिससे विप्र फाउंडेशन गुजरात के महामंत्री मीठा लाल पालीवाल के द्वारा बसों के माध्यम से ग्रामीणों को उपलब्ध कराई जा रही है।
Lampi Virus Medicine
   यह दवाई निशुल्क उनके द्वारा दी जा रही है तथा फाउंडेशन के सदस्य कपिल उपाध्याय ने बताया कि यहां खेडा धरती क्षेत्र मे निशुल्क सभी को वितरित कर रहे हैं। इनके द्वारा राजस्थान में जयपुर, जोधपुर, जैसलमेर, पाली हर जगह दवाई निशुल्क उपलब्ध कराई जा रही है।

Ad Code