Headline News
Loading...

Ads Area

बेड पर चढ़ डॉक्टर ने मरीज की कर डाली धुनाई, वीडियो वायरल होने पर सरकार ने मांगी रिपोर्ट

  राजस्थान के जयपुर के सवाई मान सिंह (एसएमएस) मेडिकल कॉलेज में एक रेजिडेंट डॉक्टर ने रविवार एक मरीज की पिटाई कर दी। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो वायरल होने पर राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा, “हमने वायरल वीडियो को लेकर रिपोर्ट मांगी है कि आखिर हुआ क्या था?” वायरल वीडियो में दिख रहा है कि एक डॉक्टर बेड पर चढ़कर मरीज की बुरी तरह से पिटाई कर रहे हैं। मरीज को घूसों से मारा जा रहा है। डर की वजह से वहां मौजूद कोई अन्य मरीज या उनके परिजन किसी तरह का विरोध नहीं कर रहे हैं। हालांकि, वहां मौजूद अन्य डॉक्टरों ने बीच-बचाव कर मामले को शांत करवाया। इस दौरान अस्पताल के एक व्यक्ति ने इस पूरी घटना का वीडियो बना लिया।
    वीडियो वायरल होने पर सोशल मीडिया यूजर्स ने घटना पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। टि्वटर यूजर @ankushwit ने लिखा, “डॉक्टर को धैर्य रखना चाहिए था।” @yomamabesofat8 ने लिखा, “कांग्रेस शासित राज्य में मरीज भी सुरक्षित नहीं हैं। कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद बलात्कार और दुर्व्यवहार की घटनाएं बढ़ी हैं। शर्मनाक। असहिष्णुता बढ़ रही है।”
    टि्वटर यूजर @preetitejsingh ने लिखा, “यह दुखद है लेकिन डॉक्टर भी काफी दबाव में काम करते हैं। लेकिन एक मरीज की पिटाई दुर्भाग्यपूर्ण है।” @renu_18 ने लिखा, “ओह माई गॉड! क्या वह एक डॉक्टर है?” @msgoindi59 ने लिखा, “अमानवीय, मरीज के साथ दुर्व्यवहार करने के आरोप में डॉक्टर को गिरफ्तार करना चाहिए।” @vsthakur11 ने लिखा, “इस तरह के डॉक्टरों के लिए क्यों नहीं कड़े नियम होने चाहिए या ट्रेनिंग मिलनी चाहिए।” @prashanttomar83 ने लिखा, “अगर नेता जी में लप्पड़ पड़ता ना तो कोई जांच नहीं होती। साफ साफ दिख रहा है कि एक गुण्डा एक मरीज को पीट रहा है। इस गुन्डे पर तुरन्त प्रभाव से कार्यवाही होनी चाहिए।” @TrollMyPm ने लिखा, “यह कौन सी बीमारी का इलाज कर रहा है?”
    प्रारंभिक जांच में मारपीट कर रहे डॉक्टर का नाम सुनील कुमार बताया जा रहा है। वहीं, वीडियो कथित तौर पर एसएमएस अस्पताल के वार्ड नंबर 1 का है। कहा जा रहा है कि वार्ड में मरीज की कहासुनी किसी डॉक्टर से हो गई थी। इससे गुस्साए रेजीडेंट ने मरीज की जमकर धुनाई कर दी। वीडियो को गंभीरता से लेते हुए मानवाधिकार आयोग ने 25 जून तक रिपोर्ट तैयार कर भेजने के निर्देश दिए है। इस पूरे मामले पर मोतीडूंगरी थाना पुलिस का कहना है कि किसी पक्ष ने अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं करवाई है और न हीं शिकायत की गई है।

Post a Comment

0 Comments