नीरव मोदी की कंपनी से कर्ज वसूली पर अमेरिकी कोर्ट ने लगाई रोक

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

नीरव मोदी की कंपनी से कर्ज वसूली पर अमेरिकी कोर्ट ने लगाई रोक

Image may contain: 1 person, smilingपंजाब नैशनल बैंक स्कैम
     पंजाब नैशनल बैंक के साथ 12 हजार करोड़ से ज्यादा के लोन फ्रॉड के आरोपी नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार डायमंड से कर्ज वसूली पर अमेरिका की एक अदालत ने अंतरिम रोक लगा दी है.
     दरअसल नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार डायमंड इंक ने दिवालिया कानून के तहत संरक्षण के लिए न्यूयॉर्क की एक अदालत में चैप्टर-11 याचिका दायर की थी, जिस पर जज सॉन एच लेन ने सुनवाई की. अमेरिकी दिवालिया अदालत ने कहा कि इस संबंध में याचिका मंजूर होने के साथ ही कर्ज वसूलियों पर खुद ब खुद रोक लग जाती है.
      इसमें कहा गया है, 'उदाहरण के लिए, जब तक ये रोक लागू है, लोन देने वाले अपने कर्जदार से वसूली के लिए न उन पर कोई केस कर सकते हैं और न ही उनकी संपत्तियां ही जब्त कर सकते हैं. इसकी अवहेलना करने वालों को वास्तविक और दंडात्मक नुकसान और वकील की फीस भी चुकानी पड़ सकती है.'
     बता दें कि नीरव मोदी, उनके मामा मेहुल चौकसी और उनसे जुड़ी कंपनियों पर पीएनबी से 12,717 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है. कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, उसका कारोबार अमेरिका, यूरोप, पश्चिम एशिया और भारत सहित कई देशों में फैला है. उसने अपनी मौजूदा स्थिति के लिए नकदी और सप्लाइ चेन में दिक्कतों को जिम्मेदार बताया है. अदालत में दाखिल दस्तावेजों के अनुसार कंपनी ने 10 करोड़ डालर की आस्तियों व कर्ज का जिक्र किया है.

Ad Code