Headline News
Loading...

Ads Area

शर्मनाक : मॉर्चुरी नहीं थी तो सड़क पर ही कर दिया महिलाओं के शव का पोस्टमार्टम

    विकास के दावों के बीच पश्चिमी राजस्थान में अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे बाड़मेर जिले से रोंगटे खड़े कर देने वाली खबर आई है. जिले के गडरा रोड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में करंट से मौत का शिकार हुई दो महिलाओं के शवों का सड़क पर ही पोस्टमार्टम कर दिया गया. इस दौरान परिजन गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी. इसी बीच घटना का वीडियो वायरल हो गया.
    दरअसल तमलोर गांव में मंगलवार को करंट लगने से दो महिलाओं की मौत हो गई थी. उसके बाद में उनके शवों को गडरा रोड के सरकारी अस्पताल में लाया गया. यहां पर मोर्चरी नहीं होने के कारण दोनों महिलाओं के शव रातभर मरीजों को भर्ती करने वाले कक्ष में रखा गया. पास में शव रखे होने से वहां भर्ती मरीज भी रातभर खुद को असहज महसूस करते रहे. 
    दूसरे दिन बुधवार को तो हद ही कर दी गई. इन शवों को उठाकर अस्पताल परिसर में खुले में लाया गया. यहां बनी सड़क पर शवों को रखकर यहीं पर एक पर्दा लगाकर शवों का पोस्टमार्टम कर दिया गया. तर्क यह दिया गया कि पोस्टमार्टम के लिए अलग से कमरा नहीं है.
    परिजनों का कहना है कि उन्होंने मना किया कि सड़क पर पोस्टमार्टम न करे लेकिन सरकारी डॉक्टर ने परिवार की एक नहीं सुनी और सड़क को पोस्टमार्टम रूम बना दिया. अस्पताल प्रशासन को एक कमरा ऐसा नहीं मिला, जहां पर इन शवों को रखकर उनका पोस्टमार्टम करवाया जा सकता था.
    इस मामले में अतिरिक्त जिला कलक्टर राकेश कुमार का कहना है कि हमें भी मीडिया के द्वारा ही घटना का पता चला है. इस बारे में सीएमएचओ से तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी गई है. उसके बाद ही वास्तविक स्थिति का पता चल पाएगा.

Post a Comment

0 Comments