नीरव मोदी और विक्रम कोठारी की तरह के एक और बैंक फ्रॉड का खुलासा

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

नीरव मोदी और विक्रम कोठारी की तरह के एक और बैंक फ्रॉड का खुलासा

   नीरव मोदी और विक्रम कोठारी की तरह का एक और बैंक फ्रॉड सामने आया है. उत्तर प्रदेश के कानपुर के बिजनेसमैन एमपी अग्रवाल की कंपनी श्री लक्ष्मी कॉटन लिमिटेड ने 16 बैंकों से करीब चार हजार करोड़ रुपये का लोन लिया था और अब यह कंपनी बैंक में डिफाल्टर हो गई है.
    एमपी अग्रवाल की कंपनी टेक्सटाइल और डिफेंस मैटेरियल के प्रोडक्ट्स बनाती है. बताया जा रहा है कि एमपी अग्रवाल की कंपनी पर सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के 3,904 करोड़ रुपये, यूको बैंक के 65 करोड़ रुपये और आईएफसीएल बैंक के पांच करोड़ रुपये बकाया हैं. नीरव मोदी और विक्रम कोठारी के मामले सामने आने के बाद अब बैंक अग्रवाल के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने जा रहे हैं.
     इससे पहले नीरव मोदी और विक्रम कोठारी के मामले सामने आ चुके हैं. नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी पर पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में करीब 14 हजार करोड़ रुपये के घोटाले करने के आरोप हैं. मामले में जांच एजेंसियां ताबड़तोड़ कार्रवाइयां भी कर रही हैं. इसके अलावा रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के मालिक विक्रम कोठारी पर बैंकों को तीन हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की चपत लगाने का आरोप है.
     इन घोटालों को लेकर राजनीतिक घमासान भी जारी है. नीरव मोदी का मामला सामने आने के बाद से विपक्ष लगातार सरकार पर निशाना साध रहा है. हालांकि सरकार का कहना है कि ये बैंक के स्तर पर हुए घोटाले हैं. ये सरकारी घोटाले नहीं हैं. सरकार का यह भी कहना है कि घोटालेबाजों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. किसी को बख्शा नहीं जाएगा. वहीं, नीरव मोदी मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद पीएम मोदी पर निशाना साध चुके हैं.

Ad Code