Headline News
Loading...

Ads Area

आक्रोश में राजपूत समाज, अब चुनावी रणभूमि में होगी आर-पार की लड़ाई

इस बार भाजपा का जीतना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन हुआ, चुनावी रणभूमि में उतरेगा राजपूत समाज  
राजपूत समाज बीजेपी को दिखाएगा आइना, समाज का आरोप मेडम की वजह हारेगी बीजेपी 
मेडम ने राजपूतों से पंगा लेकर बीजेपी की कर दी हालत ख़राब   
    जयपुर/राजस्थान।। लगता है राजस्थान के रणबाकुरों ने इस बार पुरजोर तरीके से बीजेपी को सबक सिखाने की ठान ली है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लम्बे अर्से से भाजपा से नाराज़ चल रहे राजपूत समाज ने खुद अपने उम्मीदवार विधानसभा चुनाव 2018 के चुनावी दंगल में उतारने का मानस बना लिया है। 
   आपको बताते चले की बीजेपी की राजपूत विरोधी नीतियों से आजकल राजपूत समाज बीजेपी से ना केवल खासा नाराज़ दिख रहा है अपितु राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे सिंधिया का नाम सुनते ही तो वह आग बबूला सा धहक उठता है। राजपूत संघठन और रावणा राजपूत संगठनों ने मिलकर संयुक्त रूप से अपने राजपूत उमीदवारो को राजस्थान में उतरेगा फिर चाहे वह विधायक, मंत्री या मुख्यमत्री का पद हो  दावेदारी के लिए चुनावी रणभूमि में दमखम दिखाने के लिए जोर-शोर से राजपूत समाज के उम्मीदवारों को खड़ा किया जाएगा। इसके लिए समाज शीघ्र ही कुछ ही दिनों में एक बीजेपी के विरोध में एक आक्रोश रैली का राज्य स्तरीय रैली का भी राजपूत समाज संघर्ष समिति के बैनर तले आयोजन किया जाएगा। इस सम्बन्ध में प्रदेश प्रतिनिधि सम्मलेन अध्यक्ष श्री गिरिराज सिंह लोटवाड़ा ने घोषणा की। इस सम्मलेन में रावणा राजपूत समाज, चारण महासभा सहित पच्चीस से ज्यादा राजपूत संगठनो के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। 
    कार्यक्रम के दौरान समिति के अध्यक्ष श्री गिरिराज सिंह लोटवाड़ा ने कमल का फूल हमारी भूल पोस्टर का भी विमोचन किया गया। गौरतलब है की राजपूत समाज और विभिन्न राजपूत संगठनों ने यह सामूहिक रूप से घोषणा की है जो राजनैतिक पार्टी राजपूत विरोधी और राजपूत के दमनकारी नितियो को अपनाएगा उस राजनैतिक पार्टी का ना केवल बहिष्कार किया जाएगा अपितु उस राजनैतिक पार्टी की चुनावी बिसात को ही जमीनी स्तर पर हिला के रख दिया जाएगा। 
  

Post a Comment

0 Comments