Headline News
Loading...

Ads Area

साड़ी से लंगोट तक बेचेगी रामदेव की कंपनी पतंजलि, दीपावली से शुरू होगी बिक्री

Image may contain: 1 person    नई दिल्ली देश की राजधानी दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में योग गुरू रामदेव ने आज अपने डेयरी प्रोडक्ट्स की रेंज लॉन्च की. इस दौरान उन्होंने एक बड़ी घोषणा की कि उनकी कंपनी पतंजलि दीपवली के मौके पर पतंजलि परिधानों की रेंज लॉन्च करने वाली है.
    उन्होंने पतंजलि परिधान के लॉन्च की जानकारी देते हुए कहा कि इसमें 3000 से ज़्यादा चीज़ों रेंज मिलेंगे. वहीं, इसके तहत किड्स वियर से लेकर एडल्ट वियर तक मिलेंगे और कंपनी जिम जाने के कपड़ों से लेकर बेडशीट तक बेचेगी. उन्होंने इस जानकारी को नारे का रूप देते हुए कहा कि अब पतंजलि साड़ी से लंगोट तक बेचेगी.
     उन्होंने कहा कि पतंजलि के इस स्टोरी में लोग शादी के परिधान की भी शॉपिंग कर सकेंगे और यहां फुटवियर भी उपलब्ध होंगे. रामदेव ने जानकारी दी कि पतंजलि परिधान के प्रमुख केएन सिंह होंगे. उन्होंने ब्रांड के नामों में आस्था और संस्कार जैसे शब्द शामिल किए हैं.
    योगगुरु रामदेव की कंपनी पतंजलि आज एक और क्षेत्र में कूद गई है. अब ये दिल्ली एनसीआर समेत हरियाणा, राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में डेयरी प्रोडक्ट्स भी बेचेगी. इससे जुड़ी एक मुहिम 'समर्थ भारत, स्वस्थ भारत' के एक प्रोग्राम के दौरान 3000 लोगों की उपस्थिति में गाय के दूध, दही, छाछ और पनीर जैसे उत्पादों की बिक्री का कार्यक्रम लॉन्च किया गया.
    इस दौरान रामदेव ने कहा, "इस मुहिम का हिस्सा 56,000 रिटेलर हैं जो दूध के प्रोडक्ट उपलब्ध कराएंगे. यूरिया रहित जानवरों का चारा भी लॉन्च कर रहे हैं ताकि लोग शुद्ध दूध का उत्पादन कर सकें. अगले साल गाय के दूध का उत्पादन 10 लाख लीटर करने का लक्ष्य रखा गया है." उन्होंने ये भी कहा कि पतंजलि का टर्न ओवर पिछले साल 12,000 करोड़ का रहा है.
    रामदेव ने जानकारी दी कि पतंजलि गाय का शुद्ध दूध बाजार की कीमत से दो रुपये सस्ता यानी 40 रुपये लीटर में उपलब्ध करवाएगी. कल से चार लाख लीटर से ज़्यादा शुद्ध गाय का दूध बाजार में उपलब्ध होगा. इस दौरान आलू के फिंगर चिप्स, फ्रोजेन सब्ज़िया भी लॉन्च की गईं. टेबल बटर और हर्बल फ्लेवर्ड मिल्क भी जल्द लॉन्च किया जाएगा. उन्होंने इन उत्पादों को "ईज़ी टू डाइजेस्ट" प्रोडक्ट कहा है.
    वहीं, उन्होंने ये भी कहा है कि इससे एक लाख किसानों को सीधा फायदा होगा और 20,000 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा. बाबा ने आरोप लगाया कि बीकानेर और शेखावाटी इलाकों के किसानों से दूध इकठ्ठा कर लाया जाता है लेकिन उन्हें वैसी कीमत नहीं दी जाती. आगे कहा कि जब उन्होंने इन क्षेत्रों के किसानों से दूध लेना शुरू किया तो दूसरी कंपनियों ने किसानों को 3 से 4 रुपये ज्यादा देना शुरू कर दिया. वहीं, उन्होंने ये जानकारी भी दी कि पीने का शुद्ध पानी मिले इसके लिए पतंजलि 'दिव्य जल' भी लॉन्च किया गया है.

Post a Comment

0 Comments