Headline News
Loading...

Ads Area

पांच राज्यों का चुनावी बिगुल बजा, 11 दिसंबर को आएंगे नतीजे

    चुनाव आय़ोग ने आज पांच राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान कर दिया है. मध्य प्रदेश और मिजोरम में एक साथ 28 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. वहीं छत्तीसगढ़ में दो चरणों में 12 और 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. इन सभी पांच राज्यों के नतीजे 11 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.
    चुनावों की घोषणा के साथ ही मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना में आचार संहिता लागू कर दी गई है. बता दें कि छत्तीसगढ़ में दो चरण में वोट डाले जाएंगे. नक्सल प्रभावित इलाकों में 12 नवंबर को पहले चरण का मतदान होगा. वहीं दूसरे चरण में 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे.
      मुख्य चुनाव आयुक्त ओ पी रावत ने बताया कि इन पांचों राज्यों के विधानसभा चुनाव में वीवीपैट मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा. साथ ही पोलिंग बूथों पर भारी सुरक्षाबलों की तैनाती की जाएगी. 119 सदस्यीय छत्तीसगढ़ विधानसभा की नक्सल प्रभावित 18 सीटों पर पहले चरण में 12 नवम्बर को मतदान होगा. इसके लिए 16 अक्तूबर को अधिसूचना जारी की जायेगी. नामांकन की अंतिम तारीख 23 अक्तूबर होगी . इसके अगले दिन नामांकन पत्रों की जांच होगी, जबकि नामांकन वापसी की अंतिम तारीख 26 अक्तूबर तय की गयी है.
     दूसरे चरण में राज्य की शेष 72 सीटों के लिए अधिसूचना 26 अक्तूबर को जारी की जायेगी. नामांकन की अंतिम तिथि दो नवंबर, नामांकन पत्रों की जांच तीन नवंबर और नामांकन वापसी की अंतिम तिथि पांच नवंबर तय की गयी है. इन सीटों पर 20 नवंबर को मतदान होगा. रावत ने बताया कि मध्य प्रदेश की 230 और मिजोरम की 40 विधानसभा सीटों के लिये एक ही चरण में 28 नवंबर को मतदान होगा. इसके लिये दो नवंबर को अधिसूचना जारी की जायेगी. नामांकन की अंतिम तारीख नौ नवंबर, नामांकन पत्रों की जांच 12 नवंबर और नामांकन पत्र वापसी की अंतिम तारीख 14 नवंबर तय की गयी है.
    उन्होंने बताया कि राजस्थान की 200 और तेलंगाना की 119 विधानसभा सीटों के लिये सात दिसंबर को मतदान होगा. इसके लिये 12 नवंबर को अधिसूचना जारी की जायेगी. नामांकन की अंतिम तिथि 19 नवंबर, नामांकन पत्रों की जांच 20 नवंबर और नामांकन पत्रों की वापसी की तिथि 22 नवंबर तय की गयी है. उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा का कार्यकाल अगले साल पांच जनवरी को, मध्य प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल सात जनवरी को, राजस्थान विधानसभा का कार्यकाल 20 जनवरी और मिजोरम विधानसभा का कार्यकाल इस साल 15 दिसंबर को समाप्त होगा.
     उन्होंने बताया कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले तीन नवंबर को कर्नाटक में लोकसभा की तीन और विधानसभा की दो सीटों के लिये उपचुनाव भी कराया जायेगा. राज्य की शिमोगा, बेल्लारी और मांद्या लोकसभा सीट तथा रामनगरम एवं जामखांडी विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिये नौ अक्तूबर को अधिसूचना जारी की जायेगी. यहां नामांकन की अंतिम तिथि 16 अक्तूबर, नामांकन पत्रों की जांच 17 अक्तूबर, नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 20 अक्तूबर तय की गयी है. उपचुनाव के लिये मतगणना छह नवंबर को होगी. रावत ने बताया कि सभी पांच राज्यों में शतप्रतिशत वीवीपेट युक्त ईवीएम से मतदान कराया जायेगा. उन्होंने बताया कि इन चुनावों में प्रत्येक मतदान केन्द्र पर पहली बार मतदाता सहायता बूथ बनाये जायेंगे.
     साथ ही आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को चुनाव प्रक्रिया से दूर करने संबंधी सुप्रीम कोर्ट के हाल के फैसले का अनुपालन करते हुये उम्मीदवारों द्वारा पेश किये जाने वाले हलफनामे की रूपरेखा में बदलाव किया गया है. इसमें प्रत्येक उम्मीदवार को लंबित आपराधिक मामलों की जानकारी विभिन्न मीडिया माध्यमों से सार्वजनिक करने के पालन की जानकारी देनी होगी. उन्होंने बताया कि चुनाव के दौरान निर्वाचन नियमों के उल्लंघन की शिकायत मोबाइल एप ‘सी विजिल’ के जरिये मतदाता कर सकेंगे. इससे पहले इस एप को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान सिर्फ बेंगलुरु विधानसभा सीट पर सफलता पूर्वक प्रयोग किया गया था. अब पहली बार इसका व्यापक पैमाने पर इस्तेमाल किया जायेगा.

Post a Comment

0 Comments