पहले शादी और फिर माल लेकर गायब, पुलिस ने पकड़ी 9 लुटेरी दुल्हनें

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

पहले शादी और फिर माल लेकर गायब, पुलिस ने पकड़ी 9 लुटेरी दुल्हनें

    शादी कर के पैसे लेकर रातों रात गायब हो जाना पैसे कमाने का एक शार्ट कर्ट तरीका बन गया है।  जल्द पैसे कमाने की चाह में पड़ी लिखी युवतिया भी इस तरह के कामो में संलग्न हो चुकी है लेकिन कई युवतिया इस गोरखधंधे में पड कर पुलिस के हत्थे भी चढ़ जाती है। पुणे की देहात पुलिस ने एक ऐसे अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया है जो शादी के नाम पर एक – दो या तीन नहीं बल्कि करीब 50 परिवारों को लूटा चुका है। पुलिस ने गिरोह में शामिल 25 से 35 साल की 9 महिला और दो पुरुषों को भी गिरफ्तार किया है। जोकि परिवार बनकर लोगों से संपर्क करते थे और शादी की पूरी योजना बनाते । काम पूरा हो जाने के बाद नकदी, गहनें और कीमती सामान लेकर फरार हो जाते थे।
    जानकारी के अनुसार, रैकेट पुणे देहात पुलिस की स्थानीय अपराध शाखा द्वारा एक मामले की जांच के बाद प्रकाश में आया। बीते जनवरी महीने के तीसरे सप्ताह में शादी से पहले एक आदमी से 2.4 लाख रुपये लिए गए थे। वाघोली की रहने वाली ज्योति पाटिल, कथित तौर पर गैंग की मुखिया है ने मवाल में रहने वाले एक व्यक्ति से संपर्क किया था।
    महिला ने व्यक्ति से कहा कि एक गरीब परिवार की महिला उससे शादी करने के लिए तैयार है। हालांकि फरवरी के पहले हफ्ते में पुरुष के परिवार के सदस्यों ने पुलिस को सूचित किया कि वह जिस महिला से शादी करने वाला था, वह घर से नकदी चोरी फरार गई है। महिला और उसके दोस्तों को अपराध शाखा द्वारा हिरासत में लेने के बाद जानकारी हुई कि महिला पहले से ही दो बच्चों की मां और शादीशुदा थी।
कई राज्यों में फैलाया जाल
    पुलिस का कहना है कि गिरोह में शामिल महिलाओं ने महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में 50 से अधिक परिवारों में शादी की। एक जगह से काम बन जाने के बाद पूरा गिरोह इतनी दूर भाग जाया करता था कि उनका कुछ अता- पता नहीं मिलता था। गिरफ्तार आरोपियों में 35 वर्षीय ज्योति पाटिल, 27 वर्षीय विद्या खांडले, 39 वर्षीय महानल कासले, 37 वर्षीय रूपाली बनपट्टे, 25 वर्षीय कलावती बनपट्टे, 33 वर्षीय सारिका गिरी, 24 वर्षीय स्वाति साबले, 28 वर्षीय मोना सालुंके और पायल साबले के तौर पर शिनाख्त हुई है।
    इधर, पुलिस पूछताछ में गिरोह ने पांच पुरुषों को धोखा देने की बात स्वीकार की है। लेकिन पुलिस का कहना है कि उनके पास यह मानने के कारण हैं कि कई और लोगों के साथ भी ऐसा हुआ होगा। पुणे ग्रामीण एसपी अभिनव देशमुख ने एक अपील की है कि जिन लोगों के साथ धोखाधड़ी हुई है वे आगे आएं। साथ ही पुणे ग्रामीण एलसीबी से संपर्ककरें। इंस्पेक्टर पद्माकर घणावत की अगुवाई वाली टीम ने मामले की गहनता से जांच पड़ताल कर रही है।

Ad Code