मांगे हुए जूते पहन कर दौड़ी यूपी की बेटी बनी नेशनल चैंपियन

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

मांगे हुए जूते पहन कर दौड़ी यूपी की बेटी बनी नेशनल चैंपियन

मजदूर मां-बाप ने कर्ज लेकर कराई थी तैयारी
    कहते है यदि किसी के दिल में कुछ करने का ज़स्बा हो तो उसके लिए कोई राह मुश्किल नहीं है। जी हां बेहद गरीब परिवार से आने वालीं मुनिता ने 36वीं राष्ट्रीय जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप गुवाहाटी में 10 फरवरी को 10 किमी वॉक रेस में एक नया नेशनल रिकॉर्ड बनाया है। UP के वाराणसी की रहने वालीं मुनिता प्रजापति ने वॉक रेस में नेशनल रिकॉर्ड बनाया है। जबकि मुनिता के पिता मजदूर हैं और उन्होंने इस प्रतियोगिता के लिए मांगे हुए जूते पहनकर तैयारी की थी।
     मुनिता भले ही अब नेशनल चैंपियन हैं और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने केन्या भी जाने वाली हैं लेकिन उन्हें यहां तक पहुंचाने के लिए परिवार को कर्ज भी लेना पड़ा।
    वाराणसी के रोहनिया शाहबाजपुर बढ़ैनी खुर्द की रहने वाली मुनिता बताती हैं कि वे इस प्रतियोगिता में हिस्सा ले पाएं इसके लिए उनकी मां को रिश्तेदारों और कई अन्य व्यक्तियों से उधार भी लेने पड़े थे। मुनिता के पास दौड़ने के लिए जूते नहीं थे और गांव में रह रहे उसके बड़े भाइयों ने अपने पुराने जूते उन्हें दिए। इस प्रतियोगिता के लिए उन्होंने इन्हीं जूतों के सहारे तैयारी की थी। मुनिता के मुताबिक वे सरकार से सिर्फ इतना चाहती हैं कि उन्हें कोई काम दे दिया जाए जिससे वे अपने परिवार की देखभाल करने में सक्षम हो जाएं।
     मुनिता बताती हैं कि उन्होंने जब शुरू-शुरू में एथलीट बनने के लिए ट्रेनिंग शुरू की थी तो पिता और परिवार के अन्य पुरुषों ने साफ़ मना कर दिया था। हालांकि उनकी बड़ी बहन पूजा और मां राशमनी के समझाने के बाद उन्हें प्रैक्टिस की इजाजत मिल गयी थी। मुनिता का पूरा परिवार अभी भी एक ही कमरे में रहता है और काफी मुश्किल से गुजारा हो पाता है। 
    मुनिता के मुताबिक साल 2017 में भोपाल स्थित साई हॉस्टल का ट्रायल के लिए उनके परिवार को कर्ज लेना पड़ा था. हालांकि ट्रायल में मुनिता का सलेक्शन हो गया और उन्हें किट और अन्य सामान की किल्लत से नहीं जूझना पड़ा। मुनिता ने 12वीं कक्षा तक पढ़ाई की है और वे आगे पढ़ने की भी इच्छा रखती हैं।
    बता दें कि मुनिता ने 10000 मीटर रेस वॉक चैंपियनशिप में 47 मिनट 52 सेकेंड में पूरी कर राष्ट्रीय रिकॉर्ड कायम किया है। इसी के साथ मुनिता ने अगस्त 2021 में केन्या में होने वाली इंटरनेशनल चैंपियनशिप के लिए भी क्वालिफाई कर लिया है। इसके अलावा मुनिता ने 7वीं नेशनल ओपन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप फरवरी 2020 रांची में गोल्ड जीता था। नवंबर 2019 में 35वीं नेशनल जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप विजयवाड़ा में गोल्ड जीता था। गौरतलब है की मुनिता ने पहला इंटरनेशनल हांगकांग में एशियन यूथ एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2019 में खेला था।

Ad Code