एक छोटे से देश ने कोरोना को हमेशा के लिए कह दिया बाय-बाय

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

एक छोटे से देश ने कोरोना को हमेशा के लिए कह दिया बाय-बाय

अब इस देश में मास्क लगाने की अनिवार्यता खत्म, बेखौफ घूम रहे लोग
80% लोगों को लग चुका है वैक्सीन
    नई दिल्ली।। पूरा विश्व जहा कोरोना महामारी का दंश झेल रहा है. ऐसे में भारत में भी कोरोना बेकाबू हो चुका है. मास्क लगाना बेहद जरूरी हो गया है. नियमों को तोड़ने पर जुर्माना भी लगाया जा रहा है. इसी बीच इजराइल से अच्छी खबर सामने आई है. इजराइल ने अपने देश में मास्क की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है.
    इजराइल में मास्क की अनिवार्यता खत्म होने के बाद नागरिक अब बेखौफ सड़कों पर बिना मास्क के घूम रहे हैं. इजराइल अब गुलजार हो चुका है. कोरोना के खौफ से लोग आजाद हो चुके हैं. मास्क की अनिवार्यता खत्म करने वाला इजराइल पहला देश है. कोरोना वायरस से जंग में इजरायल की बड़ी सफलता मिली है.
   एक निजी वेबसाइट के अनुसार इजराइल के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने मास्‍क से आजादी का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि देश में कोरोना संक्रमण की दर वैक्‍सीन लगाए जाने के बाद बहुत कम हो गया है. इसलिए अब प्रतिबंधों में ढील देना संभव हुआ है. सार्वजनिक स्थलों पर अब मास्क लगाने की जरूरत नहीं है.
    इजराइल ने अपने देश में कोरोना वैक्सीन को ज्यादा महत्व दिया है. जिस कारण बड़ी संख्या में नागरिकों को वैक्सीन लगाया जा सका है. इजराइल में 80 फीसदी आबादी को कोरोना वैक्सीन लग चुका है. देश में इस साल जनवरी में प्रतिदिन 10 हजार नए कोरोना केस सामने आ रहे थे, जो अब घटकर 200 हो गया है. संक्रमण की रफ्तार पर एक तरह से ब्रेक लगाने के बाद सरकार ने स्कूल, बार, रेस्तरां और अन्य इनडोर एक्टिविटी की अनुमति दे दी है. हालांकि, इनडोर पब्लिक स्पेस जैसे कि ऑफिस आदि में मास्क पहनना अभी भी अनिवार्य है.
     जानकारी के मुताबिक इस्राइल में 16 साल से अधिक उम्र के 81 फीसदी लोगों को कोरोना के दोनों टीकें लग चुके हैं. वहीं वैक्सीनेशन में तेजी से यहां कोरोना संक्रमण और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में तेज गिरावट आई है. प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि कोरोना वायरस के जीतने के मामलों में इस समय हम दुनिया का नेतृत्व कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि अभी कोरोना से लड़ाई पूरी तरह खत्म नहीं हुई है.

Ad Code