Headline News
Loading...

Ads Area

महाराणा प्रताप की प्रतिमा के अनावरण की गूंज पहुंची देश विदेशो तक, पच्चीस हज़ार से अधिक लोग बने साक्षी

राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की प्रतिमा अनावरण के उपलक्ष्य में श्री पंच राजपूत समाज, कालिका माता द्वारा निकाली गई भव्य शोभायात्रा की कुछ खास झलकिया
वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण की चर्चा देश विदेशो तक पहुंच गई है सभा स्थल पर मौजूद पच्चीस हज़ार से अधिक लोग इसके साक्षी बने है। 
  
 
पारम्परिक राजपूती वेशभूषा में सजे धजे राजपूत यूवा वर्ग 
राजपूत यूवा वर्ग बंदूक एवं तलवारों के साथ भी शोभायात्रा में दिखे  

बांसवाड़ा/राजस्थान।। उत्तर प्रदेश के कुंडा से कई बार से लगातार विधायक एवं राजपूत समाज के दमदार नेता रघुराज प्रताप सिंह राजा भइया राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की प्रतिमा अनावरण में मुख्य अतिथि के रुप में शामिल हुए। रघुराज प्रताप सिंह ने यहां उपस्थित हजारों की संख्या में आए हुए राजपूत समाज एवं 36 क़ौम के लोगों को संबोधित किया।

  
दरबार साहब का स्वागत करते हुए पंच राजपूत समाज अध्यक्ष श्री बाबू सिंह जी तंवर एवं पूर्व अध्यक्ष श्री नारायण सिंह जी तंवर 
 

    आन बान शान के प्रतीक महाराणा प्रताप की पन्द्रह फ़ीट ऊंची अश्वारूठ प्रतिमा का अनावरण रविवार को शहर के उदयपुर मार्ग पर स्थित प्रताप सर्कल पर भव्य समारोह में केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत के मुख्य आतिथ्य एवं उत्तर प्रदेश के कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया के सानिध्य में हुआ। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर केबिनेट मंत्री महेंदजीत सिंह मालवीया, करणी सेना संस्थापक लोकेन्द्र सिंह कालवी, लोकसभा सांसद कनक मल कटारा, श्री राजपूत करणी सेना राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना, जिला प्रमुख रेशम मालवीया, गढ़ी विधायक कैलाश मीणा एवं सभापति जैनेन्द्र त्रिवेदी आदि उपस्थित रहे। वहीं वागड़ क्षत्रिय महासभा के सरंक्षक महारावल जगमाल सिंह व जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह आनंदपुरी भी शामिल थे। हजारों लोगों की उपस्थिति में जब मंचासीन अतिथियों ने पंद्रह फ़ीट ऊंची अश्वारूढ़ महाराणा प्रताप की प्रतिमा का रिमोट से अनावरण किया तो चारो ओर जय राणा प्रताप की जय पूंजा सरदार के उद्घोष से गुंजायमान हो गया।
   वहीं इस दौरान ड्रोन से प्रतिमा पर पुष्पवर्षा की गई। केसरिया रंग के साफों और आन बान शान के जोश से भरपूर श्री राजपूत करणी सेना के युवाओं ने प्रदेश अध्यक्ष भंवरसिंह सलाड़िया के नेतृत्व में प्रतिमा अनावरण के भव्य आयोजन में चार चांद लगा दिए। इस दौरान मुख्य अतिथि के के तौर पर सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि महान आत्माओं एवं महान विभूतियों से हमें प्रेरणा लेकर उनके पथ पर चलने का संकल्प लेना होगा। महापुरुषों ने हमें जो संस्कृति एवं सांस्कृतिक विरासत सौंपी है उसको का काम हमारी सामाजिक है। राजपूत समाज हमेशा से अपने कर्तव्य परायण की पहचान लिए कार्य करता है उन्होंने कहां की यह बदलाव का दौर है और इस बदलाव के दौर में नेतृत्व करने के लिए जिस को आगे आना चाहिए वह क्षत्रिय समाज है क्योंकि क्षत्रिय समाज हमेशा बदलाव का नेतृत्व करता आया है और वह अपने कर्तव्य को पूरी श्रद्धा और भक्ति के साथ देश रक्षा के लिए समर्पित रहता है। उन्होंने राजनीति से ऊपर उठकर अपने संबोधन में युवाओं एवं महिलाओं से आह्वान किया कि वह बदलाव के लिए तैयार रहें और समाज को नए सुशिक्षित और संगठित रूप में पहचान बनाएं। साथ ही उन्होंने कहा कि हम किसी का हक लेने में विश्वास नहीं करते हैं हम तो केवल कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ने में विश्वास करते हैं।
 
    इस अवसर पर उन्होंने प्रदेश के जल जल संसाधन मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीय द्वारा माही बांध के पुनरुद्धार के लिए केंद्र से बजट की मांग पर कहा कि कितनी भी आवश्यकता होगी केंद्र सरकार माही के बांध और नहरी तंत्र के पुनरुद्धार के लिए बजट आवंटित करेगी। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व राज्य सरकार की ओर से किसी भी प्रकार की अनुशंसा नहीं की गई जिसके चलते बजट जारी नहीं किया गया। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के विधायक रघुराज सिंह उर्फ राजा भैया ने भी सभा को संबोधित किया और कहा की महापुरुषों की प्रतिमाएं केवल दिखावे दिखावे के लिए नहीं लगा जाती वरन यह हमारे लिए एक प्रेरणा पुंज के रूप में काम करती हैं। इनके बताए रास्ते पर चलकर समाज और देश की रक्षा करना हम सबका दायित्व है। 
   
    इस अवसर पर उन्होंने सर्व समाज द्वारा बांसवाड़ा में महाराणा प्रताप की प्रतिमा लगाने की प्रशंसा की और कहा कि महाराणा प्रताप किसी एक समाज या किसी एक प्रांत के नहीं होकर पूरे विश्व के हैं इसलिए इस कार्यक्रम में सर्व समाज के लोग उपस्थित हुए हैं। कार्यक्रम में करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने भी संबोधित करते हुए कहा कि हम सब अपने पूर्वजों के पुरुषार्थ के चलते आन बान शान से जी रहे हैं और उसी आन बान शान के लिए हमें आगे भी काम करते रहना चाहिए। कार्यक्रम में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीया ने भी संबोधित करते हुए कहा कि महाराणा प्रताप के साथ भी सरदार पूंजा भील ने भी कंधे से कंधा मिलाते हुए युद्ध लड़ा और वीरगति को प्राप्त हुआ इसलिए जब जब महाराणा प्रताप का नाम आएगा तब तक राणा पूजा का नाम भी उसी श्रद्धा और आदर के साथ लिया जाएगा। इस अवसर पर उन्होंने केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से माही बांध सहित अन्य बांधों के पुनरुद्धार के लिए केंद्र से भरपूर व्यक्त की मांग की। कार्यक्रम में श्री राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना नगर परिषद सभापति जैनेंद्र त्रिवेदी एवं महारावल जगमाल सिंह ने भी संबोधन किया संचालन अशोक सिंह मेतवाला ने किया।
साफे बंधवाते हुए राजपूत समाज के लोग  
स्वागत हेतु शहर में जगह-जगह पंच राजपूत समाज के बैनर लगाए गए 
यूवा वर्ग के हाथो में केसरिया झंडा और तिरंगा लिए हुए थे 
छोटे बच्चे भी शोभायात्रा को लेकर उत्साहित दिखे 

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के महिपाल सिंह जी मकराना
वही बांसवाड़ा में प्रताप सर्किल पर वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की भव्य प्रतिमा का अनावरण के अवसर पर केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह जी शेखावत मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचे और वहां उपस्थित सभी समाज के युवाओं को उन्होंने भी संबोधित किया।






   राजपूत समाज द्वारा कड़ाके की सर्दी के बीच शोभयात्रा में सम्मिलित होने के लिए ग्रामीण अंचल से आये हुए लोगो के लिए चाय की स्टॉल का भी आयोजन किया गया उक्त स्टॉल को तेजपाल गुर्जर नामक यूवा के द्वारा संचालित किया गया।  
शोभयात्रा से पूर्व पंच राजपूत समाज के पदाधिकारियों ने भी समाज के लिए सन्देश दिया, देखे विडिओ किसने क्या कहा ...   

Post a Comment

0 Comments