Headline News
Loading...

Ads Area

घाटी में अल्पसंख्यकों को सुरक्षा देने में केंद्र सरकार रही विफल

कांग्रेस में राजनीति आलाकमान के हुक्म और दया पर निर्भर - विनय मिश्रा
मुख्यमंत्री को 3 राज्यसभा सीटो में से एक पर भी राजस्थान का कोई क्यों नही मिला?
कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवारों को लेकर आप ने साधा कांग्रेस पर निशाना
राज्य सभा के लिए गैर राजस्थानी कांग्रेस की पसंद क्यों बने?
   आम आदमी पार्टी के उदयपुर संभाग प्रभारी तनवीर सिंह कृष्णावत ने जानकारी देते हुए बताया की राज्यसभा की तीन सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवारों की घोषणा के साथ ही पार्टी में घमासान शुरू हो गया है। दिल्ली से लेकर जयपुर तक रविवार रात से ही विरोध शुरू हो गया है। वहीं इसको लेकर राजस्थान में तीसरे विकल्प के रूप में राजस्थान में सक्रिय होती आम आदमी पार्टी ने भी कांग्रेस के टिकिट वितरण लेकर अपनी आपत्ती दर्ज करवायी है।  
    आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी विनय मिश्रा ने कहा कि ये राजस्थान की जनता के द्वारा दिये गये जनमत का अपमान है। उन्होंने मुख्यमंत्री से सवाल करते हुए कहा कि राजस्थान से 3 राज्यसभा सीट में क्या एक सीट पर भी कोई राजस्थान का रहने वाला नही मिला? क्या कोंग्रेस पार्टी राजस्थानी को इतना नाकाबिल समझती है की सभी सीट बाहरी लोगों को दे दिया? 
     गौरतलब है कि राज्य सभा के लिए कांग्रेस ने जिन तीन उम्मीदवारों को चुना है। वो गैर राजस्थानी है। कांग्रेस ने महाराष्ट्र मूल के राष्ट्रीय महासचिव मुकुल वासनिक, हरियाणा के रणदीप सुरजेवाला और उत्तर प्रदेश के प्रमोद तिवारी को राज्यसभा उम्मीदवार बनाया है। ये तीनों उम्मीदवार मंगलवार सुबह 11 बजे नामांकन दाखिल करेंगे। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी के संभाग प्रभारी तनवीर सिंह कृष्णावत ने कहा कि कांग्रेस ने चिंतन शिवर तो मेवाड में किया और आम कांग्रेसियों की भावना के साथ खिलवाड भी किया। मेवाड में कांग्रेस को कई दिग्गज इस बात की उम्मीद में थे कि उन्हें इसके लिए चुना जायेगा मगर कांग्रेस ने पुरे राजस्थान में लोक सभा उम्मीदवार हारने के बाद में राज्य सभा में मिले मौके में भी राजस्थान का पुरा प्रतिनिधित्व गांधी परिवार के चरणों में भेंट कर दिया। इससे साबित होता है कि कांग्रेस आज भी गुलाम मानसिकता की शिकार है और मेवाड के कांग्रेस नेताओं की अब कांग्रेस में कोई अहमियत नहीं है। 
    वहीं मेवाड में कांग्रेस नेताओं की इस मामले में चुप्पी ये प्रमाणित करती है कि वे धरातल की राजनीति के बजाय आलाकमान के हुक्म और दया पर निर्भर है। इन सीटों पर उम्मीदवारों के चयन को लेकर मेवाड के आम नागरिकों की भावनाओं को खुब ठेस पहूंची है। और अब आम आदमी पार्टी मेवाड के मान सम्मान और प्रतिष्ठा को लेकर स्थानीय नेताओं के साथ मिलकर एक नई शुरूआत कर रहे है। जिसे आगामी विधानसभा चुनाव में सभी विधानसभा क्षेत्र में पार्टी अपने उम्मीदवार खडे करेगी। और व्यापक स्तर पर ये लडाई लडेगी।
घाटी में राजस्थान के बैंक मैनेजर की हत्या को लेकर आम आदमी पार्टी करेगी कैंडल मार्च
   आंतकियों ने कश्मीर के कुलगांव में राजस्थान के हनुमानगढ जिले के भगवान गांव के रहने वाले बैंक मैनेजर विजय कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी। इस हत्या के बाद अब राजस्थान में आम आदमी पार्टी ने केन्द्र सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। पार्टी का कहना है कि केन्द्र सरकार कश्मीर में हो रही हिंसा को रोेकने में नाकामयाब है। उदयपुर आम आदमी पार्टी ने शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है और इस दुःख की घड़ी में पूरी तरह से परिवार के साथ खड़े रहने की बात कही है। विजय कुमार को न्याय दिलाने के लिए कल 4 जून को शाम नगर निगम शहीद स्मारक पर कैंडल मार्च निकाल कर विजय कुमार को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। 
   आम आदमी पार्टी उदयपुर के निर्भय सिंह ने केन्द्र सरकार से अपील की है कि कश्मीर में 90 के दशक की तरह ही वापस कश्मीरी पंडितों को पलायन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। और आज वापस कश्मीर में लोगों को आतंकी हमलों में निशाना बनाकर दहशत फैलाई जा रही है। जिसको अंकुश लगाने के लिए सरकार काम करें और कश्मीरी पंडितों और आम जन की सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित करावें। वही ओम प्रकाश श्रीमाली ने कहा की राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा है कि हनुमान गढ़ निवासी शहीद विजय कुमार की सरकार हर सम्भव मदद करें।
चार विधानसभा क्षेत्रों के आम आदमी पार्टी पदाधिकारियों की बैठक हुई सम्पन्न
   पंजाब विधानसभा चुनाव में मिली सफलता से उत्साहित आम आदमी पार्टी अब राजस्थान में अपना आधार मजबूत करने में जुट गयी है। अगले साल राजस्थान में विधान सभा चुनाव होेने है ऐसे में पार्टी राजस्थान में अपना जनाधार मजबूत करना चाह रही है। पार्टी ने राजस्थान में अपनी पकड बनाने के लिए पहले से ही अपनी रणनीति तैयार कर ली है और अब उस रणनीति को अमलीजामा पहनाने की तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी हर आम आदमी को अपने साथ जोडकर राजस्थान में चुनाव लडने के लिए तैयारियों में जुट गयी है। इसके लिए पार्टी का मुख्य फोकस हर एक व्यक्ति से मिलकर पार्टी के एंजेडे को आम आदमी तक पहूंचाना है। 
    इसी कडी में शुक्रवार को उदयपुर स्थित हरीदास जी की मंगरी पर पार्टी कार्यालय में उदयपुर शहर, उदयपुर ग्रामीण, झाडोल और गोगुन्दा विधानसभा क्षेत्रों में सक्रिय रूप से कार्य कर रहे पार्टी के कार्यकर्ताटों की एक अहम बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में आगामी चुनावों को लेकर चर्चा की गयी साथ ही प्रदेश में अभी दो बडी राजनैतिक पार्टिया है। ऐसे में इन दोनों पार्टियों के बीच अपनी जगह बनाने और राजस्थान में एक अच्छे तिसरे विकल्प के रूप में पार्टी को कैसे आगे बढाया जाये उस पर भी चर्चा की गयी। 
    उदयपुर में आयेाजित इस बैठक में लाडूराम को झाडोल का कोर्डिनेटर भी नियुक्त किया गया है। साथ ही 20 सदस्यों की एक कमेटी का भी गठन किया गया है। इस कमेटी के सदस्य आम आदमी के बीच जाकर पार्टी का प्रचार प्रसार करेंगे और ज्यादा से ज्यादा लोगों को पार्टी की सदस्यता दिलाकर पार्टी में शामिल करने का काम करेंगे। पार्टी इसके लिए युवा टोली का भी गठन करने जा रही है। ये टोली अपने अपने क्षेत्र में पार्टी की रणनीति और पार्टी के ऐजेंडे को आम आदमी तक पहूंचायेगी जिससे लोगों को पार्टी के बारे में अधिक से अधिक जानकारी मिल सके। 
   पार्टी के पदाधिकारियों का मानना है कि आम लोगों से सीधे संपर्क से पार्टी को राजस्थान में एक अच्छा जनाधार मिल सकेगा। इस बैठक में पार्टी के उदयपुर संभाग के कोर्डिनेटर तनवीर सिंह कृष्णावत ने भी हिस्सा लिया। इस मौके पर कृष्णावत ने कहा कि राजस्थान में पार्टी जल्द ही अपना जनाधार मजबूत करेगी। कृष्णावत ने कहा कि हालंहि में पार्टी ने पंजाब में अपना अच्छा प्रदर्शन किया है। पंजाब की तर्ज पर राजस्थान में भी बदलाव देखने को मिलेगा। वहीं कश्मीर में आतंकियों ने बैंक में घूस कर हनुमानगढ के रहने वाले बैक मेनेजर विजय कुमार की हत्या की घटना को लेकर भी दुख प्रकट किया। 
घाटी में अल्पसंख्यकों को सुरक्षा देने में केंद्र सरकार विफल 
   आम आदमी पार्टी उदयपुर द्वारा केंद्र की भाजपा सरकार की कुनीतियों से हो रही बेकसूर कश्मीरी हिंदुओ की हत्या एवं उनके पलायन के विरोध में टाऊन हाल शहीद स्मारक पर एक केंडल मार्च किया गया और मृतकों को पुष्प चढ़ा कर श्रद्धांजलि दी गई।
   आम आदमी पार्टी के सुमित विजय ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि घाटी में अल्पसंख्यकों को सुरक्षा देने में केंद्र सरकार विफल रही है। इस कारण अल्पसंख्यक फिर से पलायन करने के लिए मजबूूर हो गए हैं और पिछले दिनों में 8 कश्मीरी लोगों की आतंकवादियों द्वारा निर्मम हत्या हो चुकी है।
    कैंडल मार्च के दौरान कार्यकर्ताओ ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए घाटी में जारी अल्पसंख्यकों की हत्याओं पर रोष जताया है। वहीं, मीडिया कॉर्डिनेटर मयंक जानी ने कश्मीर में दिनदहाड़े अल्पसंख्यकों की हत्याओं की निंदा की। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण है कि कश्मीर से अल्पसंख्यकों को एक बार फिर से पलायन करना पड़ रहा है। आतंकवादी अल्पसंख्यकों को निशाना बना रहे हैं। केंद्रीय गृहमंत्री को लक्षित हत्याओं को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए। इस दौरान डॉ राजीव पंड्या, निर्भय सिंह,मो हनीफ, रोहित मीणा, नरेंद्र सुथार, किशन डांगी, ओम प्रकाश श्रीमाली, विवेक अग्रवाल, प्रकाश भारती, भरत कुमावत और भी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments