Headline News
Loading...

Ads Area

मेहता ने की देहदान की घोषणा, अपने बाद दूसरे के जीवन में करेंगे रोशनी

Chandrakant Mehta Dehdan in Dungarpur
   डूंगरपुर/राजस्थान।। कोई अंग दान करता है तों कोई नेत्र पर हमारे देश में कुछ विरले ऐसे भी हैं जो देह दान कर उनुठी मिसाल कायम कर परोपकार करनें में कोई कसर नहीं छोड़ते। आज हम एक ऐसे ही शख्सियत से आपकी मुलाकात करवा रहें हैं। राजस्थान के डूंगरपुर में 21 जून योग दिवस के उपलक्ष में गुरुकुल सेंट्रल एकेडमी में हिंदी अध्यापक के पद पर कार्यरत श्रीमान चंद्रकांत जी मेहता ने मेडिकल कॉलेज में देह दान का प्रपत्र भर कर देह दान की घोषणा की है। 
मेहता द्वारा देहदान की घोषणा पर किया गया स्वागत 
   पूर्व में मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल एंड कंट्रोलर श्रीमान डॉ. महेश जी पुकार द्वारा देहदान की घोषणा करने पर संस्कार भारती के अध्यक्ष श्रीमान ओम प्रकाश जी जेठवा, डॉ. सी.पी पंवार उपाध्यक्ष संस्कार भारती, श्रीमती अभिलाषा गुप्ता शाह बालायाम प्रमुख संस्कार भारती एवं संचालिका ज्ञानम एकेडमी दायित्व धारियों द्वारा ऊपरणा एवं अभिनंदन पत्र देकर स्वागत किया गया। 
   
    डॉ. महेश पुकार द्वारा देहदान की घोषणा हेतु चंद्रकांत जी मेहता का भी ऊपरणा एवं अभिनंदन पत्र देकर अभिनंदन किया। देहदान की अलख जगाने हेतु मेडिकल कॉलेज द्वारा अभिलाषा गुप्ता साह का भी ऊपरणा ओढा कर स्वागत किया। सुव्यवस्थित देहदान कार्यप्रणाली देखने हेतु डॉक्टर बाबेल का भी ऊपरणा ओढा कर स्वागत किया गया। ओमप्रकाश जेठवा ने अपने उद्बोधन में कहा कि डॉ. महेश पुकार डूंगरपुर तथा मेडिकल कॉलेज हेतु मानवीयता के पुरोधा है, उनकी सरलता, कार्य प्रणाली, अनुशासन जीवन में उतारने योग्य है।

Post a Comment

0 Comments