सम्राट मिहिर भोज की जाति बदलना मुझे हैरान कर गया - राजकुमार कुंवर अरुणोदय सिंह

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

सम्राट मिहिर भोज की जाति बदलना मुझे हैरान कर गया - राजकुमार कुंवर अरुणोदय सिंह

Arunoday Singh write letter to pm modi
 सम्राट मिहिर भोज के 'वंशज' नागोद के राजकुमार कुंवर अरुणोदय सिंह परिहार ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी  
  नागोद/सतना/मध्य प्रदेश।। राजपूत इतिहास को तोड़ा-मरोड़ा ना जाए चिट्ठी में लिखा है कि हमे इस बात का गर्व महसूस होता है कि हमारे पूर्वजों को लोग आज भी याद रखते हैं. उनकी मूर्तियां बनाते हैं. लेकिन दुख इस बात का है कि ये लोग ऐसा करते समय सम्राट मिहिर भोज की पहचान को ही बदल डालते हैं.
Mihir Bhoj
   यूपी की राजनीति में इस समय सम्राट मिहिर भोज की जाति को लेकर जबरदस्त विवाद देखने को मिल रहा है. ये विवाद इतना ज्यादा बढ़ चुका है कि इसका असर अब मध्य प्रदेश तक महसूस होने लगा है. 
हमारे पूर्वजों को लोग आज भी याद रखते हैं
   नागोद के राजकुमार कुंवर अरुणोदय सिंह परिहार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी के जरिए उन्होंने पीएम से अपील की है कि राजपूत इतिहास को लोगों द्वारा तोड़ा-मरोड़ा ना जाए. सम्राट मिहिर भोज के 'वंशज' की पीएम मोदी को चिट्ठी चिट्ठी में राजकुमार ने इस बात पर अफसोस जाहिर किया है कि सम्राट मिहिर भोज की जाति को लेकर इतना विवाद देखने को मिल रहा है.
Arunoday Singh on Mihir Bhoj
      उन्होंने चिट्ठी में लिखा है कि हमे इस बात का गर्व महसूस होता है कि हमारे पूर्वजों को लोग आज भी याद रखते हैं. उनकी मूर्तियां बनाते हैं. लेकिन दुख इस बात का है कि ये लोग ऐसा करते समय सम्राट मिहिर भोज की पहचान को ही बदल डालते हैं.
Arunoday Singh
जाति विवाद पर यह कहा 
    राजकुमार ने चिट्ठी में आगे जोर देते हुए कहा है कि उनका परिवार क्षत्रिय राजपूत है. सम्राट मिहिर भोज को गुर्जर, अधिपति, गुर्जेश्वर का तमगा दिया गया था. लेकिन वो इसलिए था क्योंकि वे गुजरात पर राज करते थे. उस समय दूसरे राजा भी उन्हें ''Ruler of the Gurjara'' कहा करते थे. 
Arunoday Singh write letter to pm modi
    लेकिन क्योंकि सम्राट मिहिर भोज की जाति को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है, ऐसे में राजकुमार कुंवर अरुणोदय सिंह ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी.
     आज तक से बात करते हुए राजकुमार ने इस बात पर दुख जाहिर किया कि सम्राट के वंशज अभी जिंदा हैं, लेकिन फिर भी लोग उनकी जाति बदलने का प्रयास कर रहे हैं. वे कहते हैं कि सम्राट मिहिर भोज की जाति बदलना मुझे हैरान कर गया है. हमारा परिवार ये सब देख टूट गया है.
Smrat Mihir Bhoj
उनके वंशज अभी भी जिंदा हैं, तो पूर्वजो की जाति कोई कैसे बदल सकता है? 
     आप लोग कैसे किसी की जाति बदल सकते हो, जब उसके वंशज अभी भी जिंदा हैं. इस विवाद को खत्म करने के लिए मैंने अपने परिवार से जुड़े सभी जरूरी दस्तावेज सौंप दिए हैं और एक वीडियो भी बनाया गया है. परिवार का बताया पूरा इतिहास पीएम को लिखी गई चिट्ठी में भी राजकुमार ने अपने परिवार के इतिहास के बारे में विस्तार से बताया है. नागोद का 1300 साल पुराना इतिहास भी बताया गया है और हर मोड़ पर ये समझाने का प्रयास है कि वे सम्राट मिहिर भोज के वंशज हैं. 
    वैसे इस चिट्ठी में जरूर उन्होंने सब कुछ स्पष्ट बताने की कोशिश की है, लेकिन आज तक से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा है कि उन्हें किसी जाति से कोई दिक्कत नहीं है. उनके मुताबिक देश की सभी जातियों ने मिलकर ही मिहिर भोज को सम्राट बनाया था.

Ad Code