Headline News
Loading...

Ads Area

स्कूली छात्राओं में भूत प्रेत का साया मानकर परिजन करा रहे झाड़-फूंक

डॉक्टरों ने कहा- भूत प्रेत होते है, लेकिन विज्ञान इसे नहीं मानता
  शहडोल/मध्यप्रदेश।। मध्यप्रदेश के शहडोल जिले में बच्चियों की स्कूल में तबियत बिगड़ने का मामला थम नहीं रहा है। स्कूल में आते ही छात्राए एक दूसरे को देख झूमने लगती है। छात्राएं जमीन पर लोट-लोट कर रोने लगती है और अजीब-अजीब हरकतें करने लगती है। वही बच्चियों की इस हरकत से डरे सहमे परिजन भूत प्रेत का साया मानकर झाड़ फूक करा रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि भूत प्रेत होते है, लेकिन विज्ञान इसे नहीं मानता है।
  मामला शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यायल खमरौध का है। जहां स्कूल आते ही कक्षा 9वीं और 10वीं की छात्राएं किसी समस्या के चलते अजीब हरकत करने लगती है। इनको देखकर ऐसा लगता है जैसे इन पर भूत प्रेत का कोई साया हो। अचानक हुई इस घटना के चलते टीचर भी खासे परेशान हैं। वही परिजन भी बच्चियों पर भूत प्रेत का साया मान कर झाड़ फूक करा रहे है।
  इस मामले में बुढार बीएमओ डॉ. सचिन कारखुर ने कहा कि बच्चो में आयरन की कमी एवं खाने पीने का ध्यान नहीं देने के चलते इस तरह की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। वहीं बीएमओ ने चौंकाने वाली बात भी कही। पहले वे भी भूत प्रेत नहीं मानते थे, जब उनके साथ कुछ ऐसी घटना घटी तब से वे भी भूत प्रेत को मानने लगे है। उनका ये भी कहना है कि यहां पर जादू टोना होता है, तो भूत प्रेत भी होता है, लेकिन साइंस इस चीज को नहीं मानता है।
  आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही जिले के झिकबिजुरी शासकीय हाई स्कूल बिलटिकुरी से ऐसा ही मामला सामने आया था। जहां बच्चियां स्कूल पहुंचते ही अजीब-अजीब हरकते करने लगती थी। अस्पताल में झाड़ फूक भी कराया था। जिसके बाद भोपाल से आए एक दल ने बच्चियों की काउंसलिंग कर उन्हें समझाइस दी थी। बच्चियों में उस समस्या का पुनरावर्त्ति नहीं हुई और बच्चे अब सुविधानुसार पढ़ाई कर रहे है।

Post a Comment

0 Comments