नंद गोपाल नंदी का बयान बना बीजेपी के हार का कारण !

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

नंद गोपाल नंदी का बयान बना बीजेपी के हार का कारण !


      यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से खाली हुई इलाहाबाद की फूलपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी की करारी हार की वैसे तो कई वजहें हैं, लेकिन सबसे बड़ी वजह चार मार्च को हुई सीएम योगी की सभा में उनके ही कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी द्वारा बीएसपी मुखिया मायावती पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी थी। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि योगी के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी के बयान ने दलितों में गुस्सा भरकर उन्हें लामबंद कर दिया।
     माना यह जा रहा था कि बीएसपी द्वारा समर्थन का एलान किये जाने के बावजूद दलित वोटर पूरी तरह समाजवादी पार्टी का साथ नहीं देंगे, लेकिन योगी के मंत्री नंदी के बयान ने उन्हें साइकिल की सवारी करने पर मजबूर कर दिया। योगी के मंत्री मायावती के खिलाफ यह विवादित टिप्पणी कर इस चुनाव में पार्टी के लिए खलनायक साबित हुए।
     चार मार्च को इलाहाबाद शहर के प्रीतम नगर इलाके में हुई सीएम योगी की चुनावी जनसभा में यूपी के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने बीएसपी मुखिया मायावती को सूर्पनखा बताते हुए उनका मजाक उड़ाया था। मंत्री नंदी ने मायावती के साथ ही पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव को रावण, अखिलेश यादव को मेघनाद, शिवपाल यादव को कुम्भकर्ण और दिल्ली के सीएम केजरीवाल को मारीचि बताया था।
     मंत्री नंदी जिस वक्त मायावती के खिलाफ विवादित बयानबाजी कर रहे थे, उस वक्त मंच पर मौजूद सीएम योगी और डिप्टी सीएम केशव उनकी बातों को सुनकर मुस्कुरा रहे थे। मायावती के खिलाफ योगी के मंत्री की यह टिप्पणी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी। सपा और बसपा ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया जताते हुए इसे बड़ा मुद्दा भी बनाया था।
    हालांकि मंत्री नंदी ने तीन दिन बाद अपना बयान वापस लेते हुए माफी भी मांगी थी, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। मायावती की तुलना सूर्पनखा से किये जाने के बयान को दलित वोटरों ने खुद अपना अपमान माना और एकजुट होकर सपा को वोट दे इसका बदला चुकाया। माना जा रहा है कि मायावती के खिलाफ योगी के मंत्री का अपमानजनक बयान बीजेपी की हार की बड़ी वजह बना।

Ad Code