उत्तर प्रदेश में एक नई मायावती का उदय

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

उत्तर प्रदेश में एक नई मायावती का उदय

      प्रदेश में एक नई मायावती का उदय हो रहा है। ये भाजपा वाली मायावती हैं। सोने का मुकुट धारण करने वाली साध्वी का उदय। बहराइच से भाजपा सांसद साध्वी सावित्रीबाई फुले को उनके समर्थकों ने लखनऊ में सोने का मुकुट पहनाया। मुकुट पहनने के बाद उन्होंने अपनी ही सरकारों पर जोरदार हमला बोला। संविधान बचाओ सम्मेलन के बहाने उन्होंने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री पर आरक्षण खत्म करने का आरोप मढ़ा। आरक्षण और सामाजिक न्याय के नाम पर मायावती का सियासी भाग्योदय हुआ और पराभव भी। अब देखना है कि "सामाजिक न्याय" साध्वी सावित्रीभाई फुले का कितना भाग्योदय करती है।
पार्टी के खिलाफ खोला मोर्चा : 
    आरक्षण बचाने की मांग को लेकर भारतीय जनता पार्टी की सांसद सावित्री बाई फूले ने आज पार्टी के खिलाफ मोर्चे का ऐलान कर दिया है। लखनऊ के कांशीराम स्मृति उपवन स्थल पर आयोजित संविधान और आरक्षण बचाओ रैली में भाजपा सांसद ने ऐलान कर दिया कि उन्हें इस बात की परवाह नहीं की उनकी सांसदी रहे या चली जाये। देश भर से आये विभिन्न आरक्षण समर्थक मंचों के प्रतिनिधियों ने अपनी मांगों को बुलंद किया।
केंद्र और प्रदेश सरकार पर हमला : 
     भाजपा सांसद ने किसी पार्टी और नेता का नाम लिए बिना अपनी ही सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि देश में 67 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे जिंदगी जीने को मजबूर हैं। अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों को सम्मान और सुरक्षा क्यों नहीं मिल पा रहा है। पैर छू जाने पर दलित को पीट-पीट कर मार दिया जाता है। हमारे समाज का व्यक्ति घोड़े पर सवार होकर जाए तो उसे मार डाला जाता है। दलित महिलाओं का सम्मान सुरक्षित नहीं हैं। दलित महिलाओं पर उत्पीड़न बढ़ा है। साध्वी सावित्री बाई फूले ने कहा कि संविधान निर्माता बाबा साहब की मूर्तियां तोड़ी जा रही हैं।
दलित महापुरुषों के अपमान का आरोप : 
    हमारे महापुरुषों का अपमान किया जा रहा है। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है। फूले ने कहा कि वे सांसद रहें न रहें पर बहुजन समाज के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। सभी विभागों में आरक्षण की व्यवस्था है। भर्तियां नहीं की जा रही हैं। कहा जा रहा है कि हम संविधान बदलने आए हैं, इसकी समीक्षा करेंगे। आरक्षण खत्म करने की बात कही जा रही है। उनकी इतनी हिम्मत हो गई कि हमें आंख दिखा रहे हैं, यह बर्दाश्त नहीं होगा।
भाजपा के खिलाफ फूटी आवाज :
    मंच से अपने संबोधन में सांसद साध्वी सावित्रीबाई फूले ने हमलावर रुख अपनाते समय भले ही पार्टी या नेता का एक बार भी नाम न लिया हो लेकिन मंच पर वक्ताओं ने भाजपा पर जमकर हमला बोला। बाबा साहब के नाम परिवर्तन को लेकर भाजपा और यूपी सरकार पर वक्ताओं ने हमला बोलते हुए इसे संविधान बदलने की साजिश बताया। वक्ताओं ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आरक्षण खत्म कर बहुजन समाज के ऊपर मनुवादी व्यवस्था लागू करना चाहती है।
कांशीराम और बसपा की छाप : 
    कार्यक्रम स्थल पर बाबा साहब की तस्वीरों के साथ ही कांशीराम की तस्वीरें भी बड़ी संख्या में दिखाई दी। इसके साथ ही मंच पर बौद्ध भिक्षु भी मौजूद दिखें। सारे कार्यक्रम स्थल पर नीले रंग के झंडे, बैनर और पोस्टर दिखे। बहुजन समाज पार्टी की ही तर्ज पर बहुजन सुरक्षा सेना के कार्यकर्ता तैनात दिखाई दिए। इसके साथ ही कार्यक्रम स्थल पर मानवतावादी क्रांति दल का बैनर दिखा जिस पर भाजपा सांसद की तस्वीर लगी थी और पार्टी को चुनाव आयोग से मान्यता प्राप्त बताया गया। कार्यक्रम के दौरान भाजपा सांसद ने आरोप लगाया कि उनके कार्यक्रम में हिस्सा लेने आ रहे लोगों को रोकने की कोशिश की गई।
 
 
(अतुल मोहन सिंह)


Ad Code