Headline News
Loading...

Ads Area

वसीम रिजवी बन गए श्रीराम भक्त, ओवैसी को बताया बिना 'मूछों का रावण'

    शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी आजकल श्रीराम भक्त हो गए हैं. इस भक्ति में वसीम रिजवी इतने आक्रमक हो गए हैं कि उन्होंने राम मंदिर ना बन पाने का जिम्मेदार सीधे-सीधे ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और असदुद्दीन ओवैसी को ठहरा दिया. इसी के साथ उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी पर विवादास्पद टिप्पणी करते हुए उन्हें बिना मूछों का रावण तक करार दे दिया.
     दरअसल वसीम रिजवी ने दावा किया है कि उनके ख्वाब में भगवान श्री राम आए थे. जिसके बाद अयोध्या आकर उन्होंने भगवान राम के दर्शन किए. रिजवी ने य़े भी बताया कि भगवार किस रूप में उनके सपने में आए थे, क्या पहनावा था, उनके हाथों में शस्त्र क्या थे. अंत में उन्होंने ये भी बताया कि आखिरकार श्री राम ने उन्हें ही दर्शन क्यों दिए.
    राम लला के दर्शन के बाद बाहर निकलते ही वसीम रिजवी ने सबसे पहले दर्शन करने जा रहे राम भक्तों की पीड़ा का जिक्र किया और इसके लिए बाबर के पैरोकारों को जिम्मेदार ठहरा दिया. इसी के साथ उन्होंने हिन्दू धर्म की वकालत करते हुए कहा कि पूरी दुनिया में जो हिंदू धर्म के लोग हैं उनमें इंसानियत है.
    आगे उन्होंने कहा कि कुछ कट्टरपंथी जैसे ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड या जैसे असदुद्दीन ओवैसी जो बिना मूछों के रावण हैं, वो भगवान राम से दुश्मनी पर आमादा है और उनके मंदिर निर्माण में रोड़ा बने हुए हैंय. बड़े अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि इन लोगों की वजह से भगवान राम का मंदिर अदालत के आदेश का मोहताज है.

Post a Comment

0 Comments