Headline News
Loading...

Ads Area

सिंधिया समर्थक नेताओं ने कहा मध्यप्रदेश में जो सरकार है वह ज्योतिरादित्य की देन है

कांग्रेस छोड़ने की अटकलों के बीच सिंधियानिष्ठ नेता एकजुट नजर आए सिंधिया समर्थक नेताओं ने कहा कि आज मध्यप्रदेश में जो सरकार है वह ज्योतिरादित्य की देन है
शिवपुरी के कांग्रेसी बोले- हम महाराज के साथ
कांग्रेस छोड़ने की अटकलों के बीच सिंधियानिष्ठ नेता एकजुट नजर आए
    शिवपुरी/मध्यप्रदेश।।कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने की खबरों के बीच शिवपुरी के स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हम महाराज के साथ हैं और वह जो निर्णय लेंगे हम उनके साथ खड़े नजर आएंगे। शिवपुरी में इसी मुद्दे पर हमने कई कांग्रेस नेताओं से चर्चा की। इस दौरान कांग्रेसी नेताओं ने साफ तौर पर कहा कि महाराज जो इशारा करेंगे उसे इशारे पर हम काम करेंगे। इस दौरान कई कांग्रेसियों ने कहा कि प्रदेश में आज जो कमलनाथ सरकार विद्यमान है वह ज्योतिरादित्य सिंधिया की मेहनत का परिणाम है। विधानसभा चुनाव में ज्योतिरादित्य ने मेहनत की और प्रदेश में कांग्रेस सरकार को लेकर आए।
    इस दौरान कोलारस से पूर्व कांग्रेस विधायक महेंद्र यादव ने कहा कि सोनिया गांधी को मध्यप्रदेश की कमान ज्योतिरादित्य सिंधिया को सोपना चाहिए। उन्होंने खुलकर तो कुछ नहीं कहा लेकिन यह जरूर कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी के बड़े नेता हैं और कांग्रेस छोड़ने जैसा निर्णय नहीं लेंगे। वहीं कांग्रेस के प्रदेश महासचिव हरवीर रघुवंशी ने कहा कि हमारे नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया है और जैसा बे इशारा करेंगे हम निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की वापसी ज्योतिरादित्य की मेहनत का परिणाम रही है। विधानसभा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव के कारण ग्वालियर अंचल में सबसे ज्यादा सीटें कांग्रेस ने जीतीं।
   कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेंद्र मजेजी ने कहा कि आज समय की मांग की ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश की कमान सौंपी जाए। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सिंधियानिष्ठ एकजुट है और महाराज जो इशारा करेंगे उसे इशारे पर काम करेंगे।
    प्रदेश कांग्रेस सचिव विजय शर्मा ने कहा कि पूरे कांग्रेसी महाराज के साथ हैं और जो निर्देश सिंधिया जी के रहेंगे उसे इशारे पर आगे के निर्णय लिए जाएंगे। विजय शर्मा ने कांग्रेस हाईकमान से मांग की है कि मध्य प्रदेश पीसीसी की कमान की ज्योतिरादित्य सिंधिया को दी जाए।

Post a Comment

0 Comments