नाई की दुकान में बाल कटवाना पड़ा महंगा, आधा दर्जन लोग हो गए पॉजिटिव

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

नाई की दुकान में बाल कटवाना पड़ा महंगा, आधा दर्जन लोग हो गए पॉजिटिव

सेलून और नाई की दुकान में बाल कटवाने वाले हो जाये सावधान, 
ब्रस, कंघी, क्रीम, उस्तरा, तौलिया या फिर किसी अन्य वस्तु से फैला संक्रमण, 
आधा दर्जन पॉजिटिव, कई होम क्वारेंटाइन, हैरत में प्रशासन 
    खरगोन/मध्य प्रदेश।। लॉक डाउन के बीच एक हेयर सेलून दुकान खोली गई और वहां हज़ामत बनाने के लिए लोगों का ताँता लग गया | किसी ने दाढ़ी मूंछे बनवाई तो किसी ने बाल सेट करवाए और कटिंग भी करवाई | नाई की दुकान में हेयर ड्रेसर ने सभी को एक जैसा ट्रीटमेंट दिया | तौलिया भी वहीँ और कैंची उस्तुरा भी वहीँ | संक्रमण दूर करने के लिए ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और ना ही हाथों की साफ़ सफाई की ओर कोई ध्यान दिया गया | 
    इस बीच ग्राहकों की लंबी कतार ने रही कही कसर पूरी कर दी | नतीजतन कोरोना का संक्रमण | माना जा रहा है, यह तो होना ही था | जाँच में पता पड़ा कि इस दुकान में हज़ामत बनाने गए लोगों को कोरोना हो गया है | फ़िलहाल प्रशासन पीड़ितों को बचाने में जुटा है | 
    मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के बड़गांव में छह लोगों के कोरोना संक्रमण की चपेट में होने से हड़कंप मच गया है। इस घटना के बाद नाई की दुकान में दस्तक देने वाले सभी ग्राहकों की जाँच की जा रही है | बड़गांव के नायब तहसीलदार मुकेश निगम ने बताया कि पिछले दिनों एक युवक इंदौर से गांव आया था। जिसने यहाँ नाई की दुकान में दाढ़ी बनवाई थी । संक्रमण की शिकायत के बाद इस युवक के नमूनों को पहले से ही जांच के लिए लिया गया था और बाद में उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 
    उनके मुताबिक पीड़ित युवक का इलाज जारी है | लेकिन जिन लोगों ने इस नाई के यहां से दाढ़ी-कटिंग करवाई, जो उसके संपर्क में आए उनमें से 26 लोगों के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए थे। उनमें से 17 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। जबकि बचे हुए 9 में से 6 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बताया जा रहा है कि इन सभी की शेविंग, कटिंग एक ही कपड़े और उपकरणों से हुई थी। बीएमओ डॉक्टर दीपक वर्मा का कहना है कि अभी शेष तीन लोगों की रिपोर्ट आना बाकी है। पॉजिटिव मरीजों को रात में ही अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। जहां उनका इलाज शुरू हो गया है। 
     डॉक्टर वर्मा ने बताया कि गांव में सर्वे के लिए एक टीम को भेजा गया है। वहीं मरीजों के 34 परिजनों को होम क्वारंटीन किया गया है। इसके अलावा पंचायत समेत गांव को सील कर सैनिटाइज किया जा रहा रही है। यहाँ नियमों का पालन कराने के लिए पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है। फ़िलहाल लॉक डाउन के बावजूद नाई की दुकान खोले जाने को लेकर पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई गई है |

Ad Code