मानव वीर्य में भी मिला कोरोना वायरस, चिकित्सा क्षेत्र के लिए बड़ी चुनौती

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

मानव वीर्य में भी मिला कोरोना वायरस, चिकित्सा क्षेत्र के लिए बड़ी चुनौती

     नई दिल्ली।। पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रही है। कोरोना वायरस हर रोज वैज्ञानिकों और चिकित्सकों के सामने नई चुनौतियां पैदा कर रहा है। न्यूज एजेंसी AP के अनुसार चीन के शोधकर्ताओं ने कोरोनावायरस मानव वीर्य में भी पाया है। हालांकि शोधकर्ताओं ने इस बात का स्पष्ट उत्तर नहीं दिया है कि यह संभोग के दौरान फैल सकता है या नहीं।
     चिकित्सकों के अनुसार, कोरोना वायरस के इलाज के दौरान 38 में से 6 मरीजों को वीर्य में कोरोना वायरस पाया गया। चीन के Shangqiu Municipal Hospital में किए गए शोध के बाद AMA Network Open ने इस रिपोर्ट को प्रकाशित किया। हालांकि अभी यह पता नहीं लगाया जा सका है कि वायरस वीर्य में कितने समय तक रह सकता है या फिर यह संभोग के दौरान फैल सकता है या नहीं।
     अमेरिका और चीनी शोधकर्ताओं ने पाया कि वीर्य में वायरस के कोई सबूत नहीं हैं, जब उन्होंने निदान के 8 दिन से लेकर तीन महीने बाद तक टेस्ट किए। University of Utah के डॉक्टर जॉन होटलिंग, जो इस रिपोर्ट के सह-लेखक भी है, ने बताया कि नए अध्ययन में सक्रिय बीमारी वाले अधिकांश बीमार पुरुष शामिल थे।
     डॉक्टर्स और वैज्ञानिकों का दावा है कि कोरोनोवायरस मुख्य रूप से संक्रमित लोगों की खांसी से उत्पन्न होने वाली बूंदों से फैलता है, जो आस-पास के लोगों द्वारा सांस लेते हैं। कुछ अध्ययनों में COVID-19 रोगियों की आंखों में सूजन के साथ रक्त, मल और आँसू या अन्य तरल पदार्थ में वायरस का पता चला है। साक्ष्य का सुझाव है कि ज़ीका और इबोला सहित अन्य संक्रामक वायरस यौन संचारित हो सकते हैं जिससे कोरोनोवायरस के बारे में सवाल उठे हैं।

Ad Code