क्यों वृन्दावन स्थित निधि वन में किसी भी शख्स को रात को रुकने की मनाही है?

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

क्यों वृन्दावन स्थित निधि वन में किसी भी शख्स को रात को रुकने की मनाही है?

   क्यों वृन्दावन स्थित निधि वन में किसी भी शख्स को रात को रुकने की मनाही है? ऐसा क्या है निधि वन में कि कोई भी रात में रुक नहीं सकता?
   कहते हैं की ये दुनिया रहस्यओं से भरी हुई हैं। कुछ ऐसे ही रहस्य वृन्दावन में स्थित निधि वन में देखने को मिलती हैं। इस वन के रहस्य को वैज्ञानिक भी नहीं सुलझा पाए हैं।
    रात होते ही निधिवन का रहस्य गहरा जाता है। दिन में यह जगह जितनी गुलजार रहती है, रात होते ही यहां इंसान तो दूर की बात है, उल्लू और चीटियां भी कदम नहीं रखते हैं। मान्यता है कि रात को इस जगह पर बांके बिहारी रासलीला करते हैं। खास बात यह है कि रासलीला देखना मना है। इसलिए वन के आसपास घरों में खिड़कियां ही नहीं हैं।
    पौराणिक मान्यता है कि निधिवन बंद होने के बाद भी यदि कोई छिपकर रासलीला देखने की कोशिश करता है तो वह पागल हो जाता है।
दावा ये भी किया जाता है कि वहां मौजूद पशु-पक्षी और यहां तक कि चींटी भी शाम होते ही, वन छोड़ देती हैं। ऐसी मान्यता है कि जो रात में होने वाले भगवान श्री कृष्ण और राधा के रास को देख लेता है वो पागल या अंधा हो जाता है। इसी कारण निधिवन के आसपास मौजूद घरों में लोगों ने उस तरफ खिड़कियां नहीं लगाई हैं। जिन मकानों में खिड़कियां हैं भी, वो शाम सात बजे मंदिर की आरती का घंटा बजते ही बंद कर लेते हैं। कई लोगों ने अपनी खिड़कियों को ईंटों से बंद भी करा दिया है। आसपास रहने वाले लोगों के मुताबिक, शाम सात बजे के बाद कोई इस वन की तरफ नहीं देखता।

Ad Code