7 लाख खर्च कर थाइलैंड से बुलाई थी कालगर्ल, निकली कोरोना पॉजिटिव

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

7 लाख खर्च कर थाइलैंड से बुलाई थी कालगर्ल, निकली कोरोना पॉजिटिव

लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान मौत
    नई दिल्ली।। कोरोना की महामारी ने जहा कई लोगो को बर्बाद कर के रख दिया है वही लम्बे समय से चल रहे लॉकडाउन से कई लोगो को दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं हो पा रही है। लेकिन ऐसी महामारी में भी कुछ रईस लोगो के गुप्त अरमान और शोक अभी भी परवान पर है। कोरोना महामारी के बीच राजधानी लखनऊ से कुछ ऐसी ही हैरान कर देने वाली खबर सामने आई। यहां थाईलैंड से आई एक कॉल गर्ल की कोरोना से मौत हो गई। पुलिस ने जांच की तो एक के बाद एक कई खुलासे हुए।
    मालूम चला कि इस कॉल गर्ल को अभी 10 दिन पहले ही लखनऊ के एक टॉप व्यापारी के बेटे ने 7 लाख रुपए खर्च करके थाईलैंड से बुलाया था। 2 दिन बाद ही वह बीमार पड़ गई तो उसे लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 3 मई को उसकी मौत हो गई।
    पुलिस ने पहले थाईलैंड एंबेसी में संपर्क करके उसके परिजनों को डेडबॉडी हैंडओवर करने की कोशिश की, लेकिन जब नहीं हो पाया तो शनिवार को एजेंट सलमान की मौजूदगी में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। इसी एजेंट के सहारे वह भारत आई थी।
राजस्थान से जुड़े काॅलगर्ल मामले के तार
     कॉल गर्ल की मौत के बाद पुलिस अब राजधानी में पांव पसार रहे इंटरनेशनल सेक्स रैकेट के बारे में पता करने में जुट गई है। पुलिस का कहना है कि ये भी ट्रेस किया जा रहा है कि इस कॉल गर्ल के संपर्क में और कौन-कौन आया है। पुलिस के अनुसार ये कॉल गर्ल राजस्थान के रहने वाले एक ट्रैवेल एजेंट के संपर्क में थी। उसी ने इसे लखनऊ भेजा था। पुलिस अब इस एजेंट को भी तलाश कर रही है। 
    पुलिस की जांच में सामने आया है कि व्यापारी के बेटे ने कॉल गर्ल की तबियत बिगड़ने पर खुद थाईलैंड एंबेसी को फोन करके इसकी जानकारी दी थी। इसके बाद एंबेसी ने भारत के विदेश मंत्रालय की मदद से उसे अस्पताल में भर्ती कराया था। 
इंटरनेशनल सेक्स रैकेट की जांच में जुटी पुलिस
    फिलहाल पुलिस ने अभी व्यापारी बेटे की जानकारी सार्वजनिक नहीं की है, गोमतीनगर के विभूतिखंड थाना क्षेत्र का मामला बताया जा रहा है। 4 मई को थाईलैंड दूतावास ने मृतका के भाई से संपर्क कर भारत में गाइड सलमान नाम के युवक की देखरेख में अंतिम संस्कार कराए जाने की जानकारी दी। चोरी से ही व्यापारी के बेटे ने भारत स्थित थाईलैंड एंबेसी से संपर्क कर घटना कि जानकारी दी। जिसके बाद थाईलैंड एंबेसी ने प्रशासन के सहयोग से लड़की का अंतिम संस्कार कराया।

Ad Code