इश्क की बेरहमी से पिटाई हो गई ..

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

इश्क की बेरहमी से पिटाई हो गई ..

बॉयफ्रेंड से बात कर रही युवती पर कोड़ों की बरसात, नहीं मिली रहम की भीख…
    हेरात प्रांत।। यह बात हर कोई जानता है की सऊदी देशों में महिलाओं पर कितनी कठोर पाबंदियां है। महिलाओं के मन चाहे कपड़े पहनने की बात तो छोड़ों इन देशों में इश्क लगाने पर भी कई पाबंदियों के कड़े पहरे है। वैसे प्रेम करना कई देशों में अपराध नहीं माना जाता, न ही प्रेमी-प्रेमिका का फोन पर बात करना, लेकिन एक ऐसा देश है जहां प्यार पर वार किया जाता है. बॉयफ्रेंड से बात करने पर युवती पर कोड़े बरसाए गए हैं. युवती दर्द से कराहते हुए रहम की भीख मांगती रही, लेकिन निर्दयों का दिल नहीं पसीजा.
बॉयफ्रेंड से कर रही थी बात
    दरअसल, अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के एलान के बाद तालिबान ने क्रूरता दिखाना शुरू कर दिया है. यहां हेरात प्रांत के हफ्तागोला गांव में एक युवती की बस इतनी गलती थी कि उसने फोन पर अपने बॉयफ्रेंड से बात की. इसके बाद युवती को बेहद खतरनाक सजा दी गई. तालिबान ने सरेआम 40 कोड़े मारे.
बॉयफ्रेंड से बात करने पर बेरहमी
    जब उस युवती पर कोड़े बरसाए जा रहे थे, तब तालिबानी नेता इस क्रूर सजा का वीडियो बनाते रहे थे. हालांकि वीडियो को फेसबुक पर यह 13 अप्रैल को साझा की गई. वीडियो के वायरल होने के बाद इसे जिसने भी देखा वो दंग रह गया.
बॉयफ्रेंड को लेकर बरपा कहर
    जानकारी के मुताबिक हेरात प्रांत के हफ्तागोला गांव में रहने वाली युवती ने शरिया कानून के खिलाफ जाकर अपने बॉयफ्रेंड से फोन पर बात की थी. इसके बाद स्थानीय लोगों ने उसे सजा दिलाने के लिए तालिबान के पास ले गए. कट्टरपंथी मौलाना ने इस्लामी कानून के मुताबिक उसे कोड़े मारने की सजा सुनाई.
नहीं मिली रहम की भीख
    जब युवती को सजा देनी थी उस समय वहां पर बड़ी संख्या में भीड़ मौजूद रही. युवती पर 40 कोड़े बरसाए गए. उस समय जब कोड़े मारे जा रहे थे, तब दर्द से कराहते हुए युवती रहम की भीख मांगती रही. बुर्के में बैठी युवती यह कहती रही कि मुझे पश्चाताप है, मेरी गलती है, मैंने गड़बड़ कर दी है. मुझे माफ़ करदो, लेकिन उसे मारने का सिलसिला नहीं रुका. उसपर कोड़े मारते गए और धार्मिक कट्टरपंथी हंसते हुए उस दर्दनाक मंजर का मोबाइल फोन से रिकॉर्डिंग करते रहे.

Ad Code