देश भर में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन का नेट्वर्क और मुस्तैद पुलिस की छापेमारी

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

देश भर में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन का नेट्वर्क और मुस्तैद पुलिस की छापेमारी

बड़ा खुलासा: आप भी रहें सावधान! 98 रुपए वाले इंजेक्शन को ऐसे बनाते थे रेमडेसिविर 
क्राइम ब्रांच ने नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने की यूनिट पकड़ी 
दो हजार से अधिक लोगों को  बेच चुके नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन
   कोरोनाकाल में भी आपदा को अवसर बनाने वालों की कमी नहीं है. लेकिन ऐसे लोगो की काली कमाई के कारण कई मरीजों की जान दाव पर लग चुकी है. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने उत्तराखंड के कोटद्वार में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाली दवा कंपनी का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने छापेमार कार्रवाई करते हुए यहां से सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है. इनके पास से 196 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद किए गए हैं. 
    पुलिस के मुताबिक ये लोग नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन 25 हजार रुपये में बेचते थे. पुलिस ने यहां से इंजेक्शन पैक करने के लिए काम आने वाले 3000 वायल्स भी बरामद की हैं. पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने खुलासा किया, कि अब तक दो हजार से अधिक लोगों को नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेच चुके हैं. पुलिस का कहना है कि आरोपियों से ये जानकारी लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि उनके साथ और कौन शामिल है और अभी तक इनके द्वारा कहां कहां इंजेक्शन बेचे गए हैं.
ऐसे हो रही रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी
   वही लखनऊ में भी कोरोना में उपयोगी इंजेक्शन रेमडेसिविर का रैपर अन्य इंजेक्शन में लगाने वाले एक गिरोह को पुलिस ने पकड़ा है. ये गिरोह लोगों की जान से खिलवाड़ कर कालाबाजारी करता था. कमिश्नरेट पुलिस ने गिरोह के 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 
    कमिश्नर ऑफ पुलिस डी के ठाकुर, संयुक्त पुलिस आयुक्त पीयूष मोडिया व संयुक्त पुलिस आयुक्त अपराध एन के चौधरी के निर्देशन में अपराधियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है. जानकारी अनुसार बुरे वक्त में लोगों की मजबूरी का फायदा उठा कर नकली इंजेक्शन 15 से 20 हजार में बेचकर लोगो की ज़िंदगी से खिलवाड़ रहे थे. मनीष तिवारी उर्फ तपन, विकास कुमार दीक्षित, मोहित पांडे, प्रवीण वर्मा, सुफियान नामक 5 दरिंदो को इंस्पेक्टर अमीनाबाद आलोक कुमार राय के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया.
    पुलिस ने 98 रुपए की कीमत वाले इंजेक्शन पर रेमडेसिविर का रैपर लगाकर कालाबाजारी करने वाले 5 दरिंदो को अमीनाबाद जेल भेजा गया. डीसीपी वेस्ट देवेश पांडे, एडीसीपी राजेश कुमार श्रीवास्तव के दिशा निर्देशन व एसीपी कैसरबाग पंकज श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में अमीनाबाद पुलिस ने कालाबाजारी करने वालो पर शिकंजा कसा है.
    इसके साथ ही 240 PIP T 4, 5 GM इंजेक्शन पैकेट, 59 रेमिडेसिवीर की शीशी, 4224 रेमडेसिविर इंजेक्शन के लेवल, 81840 रुपए नकदी, व एक मोटरसाइकिल पुलिस ने बरामद किया. साथ ही इनसे जुड़े लोगों व कालाबाजारी करने वालों की धर-पकड़ के लिए वेस्ट जोन पुलिस लगातार दबिश दे रही है.

Ad Code