"पापाराज़ी" छुपे कैमरों से पैसे कमाने का एक बड़ा खेल

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

"पापाराज़ी" छुपे कैमरों से पैसे कमाने का एक बड़ा खेल

"पापाराज़ी" कौन होते हैं और इनका क्या काम होता है?

Paparazi
   "पापाराज़ी" शब्द सुनते ही आप के मन में सबसे पहले क्या आता है? चलिए बात को थोड़ा और आसान बनाते हैं, यदि आप फोटोग्राफी या फ़िल्मी गॉसिप में रुचि रखते हैं तब इस शब्द के बारे में आपने अवश्य सुना होगा |उदहारण के लिए आपने पेपर या मैगज़ीन में किसी अभिनेत्री की जिम जाते हुए शॉर्ट्स में फोटो देखी होगी जिसका कैप्शन कुछ यूँ होगा - " फेमस सेलेब्रिटी स्पॉटेड"
   पापाराज़ी एक प्रकार के स्वतंत्र कैंडिड फोटोग्राफर होते हैं जो बहुत ही हाई प्रोफाइल लोगों जैसे फ़िल्मी सितारे, नेता, खिलाडियों या अन्य मशहूर हस्तियों की आम दिनचर्या वाली या आपत्तिजनक तस्वीरें लेते हैं | ये सभी तस्वीरें अधिकतर छुपकर या अचानक सामने आकर ली जाती हैं जिनसे वे बिलकुल भी स्टेजड न लगें |
पापाराज़ी का इतिहास
   सन 1950 के आसपास कुछ ऐसी फ़िल्मी पत्रिकाएं थीं जो फ़िल्मी सितारों की ऐसी तस्वीरें चाहती थीं जो देखने में बिलकुल वास्तविक या उत्तेजक लगे | इसके लिए इन्होने कुछ ख़ास फोटोग्राफरों को चुना और इस काम के लिए उन्हें बहुत अधिक पैसा भी दिया जाता था | 
   इसके बाद सन 1960 में आई फेलिनी निर्देशित फिल्म ला डोल्से वीटा में एक मशहूर कैंडिड फोटोग्राफर पापाराज़ो के बारे में दिखाया गया था जहाँ से पापाराज़ी शब्द की उत्पत्ति हुई |
पापाराज़ी कैसे काम करते हैं?
   इस तकनीक का इस्तेमाल करने के लिए एडवांस फोटोग्राफी का प्रयोग किया जाता है | अधिकतर फोटोग्राफर बेहतरीन ज़ूम लेंस का प्रयोग करते हैं जिससे दूर बैठे बैठे ही उनका काम हो जाये | प्रमिख हस्तियों के कैंडिड मूमेन्ट्स शूट करने के लिए कई बार छिपे हुए कैमरे का भी उपयोग होता है जिससे उन्हें पता न चले |
   बहुत से पापाराज़ी अभिनेत्रियों के 'ऊप्स मूमेंट' को शूट करने में लगे रहे हैं जिससे उनके फ़ोटोज़ के बढ़िया दाम मिल सकें क्योंकि जो दिखता है वही बिकता है |
  एक सही तस्वीर की तलाश में कई बार ये लोग इन मशहूर हस्तियों के घर में या फिर निजी पार्टी में भी घुस जाते हैं |

Ad Code