नाबालिग लड़की के अपहरण का गम, पुलिस मे नहीं डीटेन करने का दम

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

नाबालिग लड़की के अपहरण का गम, पुलिस मे नहीं डीटेन करने का दम

 गरीबों की नाबालिक बेटियां गायब हो गई ओर एएसआई कार्रवाई के मांग रहा है पैसे 
पुलिस ने नहीं सुनी फरियाद, पुलिस उपाधीक्षक को दिया परिवाद, अब पिडित लेंगे न्यायालय की शरण
परिवादी को रात भर थाने में बैठाया, एसडीएम कोर्ट में किया पेश
Minor girl child kidnapped
  बांसवाड़ा/राजस्थान।। राजस्थान बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ तहसील से गायब हुई नाबालिग लड़की के अपहरण का गम अब बेबस परिजनों के लिए नासूर बनता जा रहा है। पीड़ितों का कहना है की पाटन पुलिस मे उनकी गायब हो चुकी नाबालिक बेटियों को डीटेन करने का दम नहीं है। परिवादीयो का कहना है की उन्हें मुज़रिमों की तरह रात भर थाने में बैठाए रखा और फिर सुबह एसडीएम कोर्ट में पेश किया गया। पीड़ितों का कहना है की पाटन पुलिस ने उनकी फरियाद को कई समय से तवाज़ों ही नहीं दी है, जिससे दुखी होकर उन्होंने कुशलगढ़ पुलिस उपाधीक्षक को परिवाद दिया है। वही अगर इस बार भी यदि उनकी सुनवाई नहीं होगी तो अब पिडित माता-पिता न्यायालय की शरण लेने की बात कर रहे है। 
कथनी और करनी में अंतर क्यों 
  राजस्थान सरकार कितनी भी ईमानदारी का ढींढोरा पीटे की हमारी सरकार में किसी गरीब के साथ अत्याचार नहीं होगा। वहीं आमजन में विश्वास ओर अपराधियों में डर का नारा बुलंद करने वाली राजस्थान पुलिस भी लाख दावे करे की पीड़ितों को त्वरित न्याय दिलाने में कोई कसर बाकी नहीं रखी जाएगी। लेकिन धरातल पर राजस्थान सरकार व राजस्थान पुलिस की कथनी और करनी में साफ अंतर दिखाई देता नजर आ रहा है।
Patan police station Banswara
चार माह पहले नाबालिग हुई थी गायब 
  आज हम राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ उप खंड क्षेत्र के खेड़ा धरती घाटा क्षेत्र के मध्यप्रदेश की सीमा से सटे पाटन पुलिस थाना क्षेत्र के गांव के खेरियापाडा में चार माह पहले एक नाबालिग लड़की के अपहरण की और राजस्थान सरकार व पुलिस के आलाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ओर इस शोषण की दास्ताँ से अनजान जनता को यह मामला बता रहे हैं। 
   मामला इस प्रकार है कि चार माह पहले खेरियापाडा के निवासी खीमजी पिता मानजी आदिवासी जाती डींडोड की नाबालिग पुत्री के अपहरण का मामला सामने आया है। समाचार लिखे जाने तक नाबालिग लड़की की स्कूल की अंक तालिका अनुसार नाबालिग लड़की कि उम्र दिनांक 15-04-2007 है, उसके अनुसार उसकी उम्र तक़रीबन 15 साल 2 माह हैं, जो नाबालिग की श्रेणी में आती है। 
अपरणकर्ताओं की पहचान हो चुकी है फिर भी गिरफ्त से दूर 
  पिडीत पिता खिमजी ने कुशलगढ़ पुलिस उपाधीक्षक को परिवाद में लिखा की दिनांक 27-03-2022 को भोदर पिता मंगला आदिवासी जाती डोडीयार निवासी उदयपुरीया थाना पाटन अपने खेत में गेहु कटाने के लिए मेरी नाबालिग लड़की को मजदूरी करने के लिए ले गया था। ज़हां भोदर का साला पायल पिता रमेश व परवेश कलारा आदिवासी निवासी हाथिया दिल्ली पुलिस थाना कुशलगढ़ भी गेहु कटाई के लिए उदयपुरिया भोदर के यहा आए थे। पिडीत पिता खिमजी ने बताया कि देर शाम तक नाबालिग लड़की घर पर नहीं लौटी तो आस-पास व भोदर से पुछताछ की जिस पर उन्हें संतोषप्रद जवाब नहीं मिला। 
Kushalgarh police station Banswara
पुलिस उप अधीक्षक को दिया परिवाद 
  वही पिडित पिता को शक होने पर उन्होंने पाटन पुलिस थाना में इस बाबत रिपोर्ट दी, जहा से न्याय नहीं मिलने पर पिडीत पिता खिमजी ने अब कुशलगढ़ पुलिस उप अधीक्षक को परिवाद दिया है। वहीं बांसवाड़ा जिला पुलिस अधीक्षक राजेश मीणा को भी परिवाद देने की बात उक्त पत्र में लिखी गई है। उच्चाधिकारियों तक नाबालिग लड़की को डीटेन कर उसे पिडीत पिता खिमजी को सुपर्द करने व दोषियों के विरुद्ध कानुनी कार्यवाही करने की मांग की गई थी। वही पिडीत को पुलिस से न्याय नहीं मिलने पर पिडीत ने मिडीया को घटनाक्रम बता कर न्याय की गुहार लगाई है। 
न्याय ना मिलने पर की जाएगी भूख हड़ताल
  वहीं पिडित पिता खिमजी ने न्यायालय की शरण लेने महिला आयोग व राज्य सरकार के जनसम्पर्क समाधान पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराने एवं न्याय ना मिलने पर भूख हड़ताल की भी बात मीडीया से कहीं है। अब देखना यह होगा कि गरिब पिडीत पिता खिमजी की नाबालिग लड़की को कितने दिन में पुलिस डीटेन कर उसे पीड़ितों को सुपर्द कर, आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करतीं हैं!
अपहरण व गुमशुदगी के मामले में एएसआई पर रुपए मांगने का आरोप
अपहरण व गुमशुदगी के मामले में पाटन पुलिस के एएसआई पर रुपए मांगने का आरोप 
Patan Police Corruption
आइये जानते है क्या था पूरा मामला? 
   अपराधियों में डर और आमजन में विश्वास का नारा लगाने वाली राजस्थान पुलिस आजकल आमजन में डर और अपराधियों में विश्वास का नारा बुलंद करने में लगी हुई है। जी हां कुछ ऐसा ही मामला राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ उपखंड क्षेत्र के खेड़ा धरती घाटा क्षेत्र के मध्यप्रदेश की सीमा से लगे पाटन पुलिस थाना क्षेत्र में देखने को मिला है।  
Patan Police Corruption
   जहा नलवाई व दरोबडीया गांव की युवतियां के अपहरण व गुमशुदगी के मामले में थाने में पदस्थ एएसआई शंकरलाल पर रिश्वत मांगने के आरोप लगाते हुए बांसवाड़ा एसपी राजेश मीणा को ज्ञापन सौंपा गया है। वही एएसआई शंकरलाल ने अपने ऊपर लगे इन आरोपों से साफ तौर पर इंकार किया है। 
Patan Police Corruption
नाबालिग लड़की को छुडा लाने के बदले मांगे 15 हजार
 
   प्राथी दरोबडीया निवासी मांगुडा पिता नाथा ने एसपी राजेश मीणा को दिए ज्ञापन में बताया कि 25 दिन पहले एएसआई शंकरलाल निनामा उनके घर आए ओर पिछ्ले साल अगवा हुईं उनकी नाबालिग लड़की को छुडा लाने के बदले 15 हजार रुपयों की मांग की गई।
Patan Police Corruption

Patan Police Corruption
   वहीं दुसरे मामले में नलवाई निवासी बादर पिता बदा ने भी एसपी राजेश मीणा को ज्ञापन में बताया कि करीब छः माह पुर्व बादर की नाबालिग लड़की भाग गई थी। बादर ने पाटन पुलिस को लिखित रिपोर्ट दी पुलिस से न्याय नहीं मिलने पर बादर ने बांसवाड़ा एसपी राजेश मीणा को ज्ञापन दिया था। 
Patan Police Corruption  

Patan Police Corruption
एएसआई ने की 10 हजार रुपयों की मांग 
  ज्ञापन में बताया गया कि इस मामले में एएसआई शंकरलाल ने बच्ची को डीटेन कर सुपर्द करने की बात कही ओर इस एवज में एएसआई शंकरलाल ने 10 हजार रुपयों की मांग की। वही मीडिया कर्मियों ने जब इस बारें में पाटन थानाधिकारी भवानी शंकर खराड़ी से पूछा तो बताया गया की एएसआई शंकरलाल पर लगे आरोप निराधार व बेबुनियाद है। 
Kushalgarh police corruption
  मामले को लेकर खराड़ी का कहना था की दोनों मामलों में जांच के बाद लड़कियों के बालिग होने के दस्तावेजों के आधार पर उन्होंने बयान भी दर्ज करवा दिए हैं। 
Patan Police Corruption

Kushalgarh police corruption
   वहीं इसी पाटन पुलिस थाने में एक ओर नाबालिग लड़की को भगा ले जाने के मामले में पिडीत खीमजी पिता मानजी आदिवासी जाती डिंडोर निवासी खेरिया पाडा ने कुशलगढ़ में पुलिस उप अधीक्षक को एक लिखित ज्ञापन सौंपा। 
Kushalgarh police corruption

Patan Police Corruption
  खिमजी ने बताया कि उनकी नाबालिग लड़की जिसकी उम्र आधार कार्ड व स्कूल की अंक तालिका के अनुसार जन्म दिनांक 15 अप्रेल 2007 है, जो फ़िलहाल नाबालिग है, वह अभी हाथिया दिल्ली में है। 
Patan Police Corruption

Patan Police Corruption
  पिडीत पिता ने न्याय के लिए गुहार लगाई है। देखना यह होगा कि पिडित पिता को पाटन पुलिस कब तक न्याय दिलाने में मददगार साबित होती है, यह तों वक्त ही बताएगा।

Ad Code