जो ज्ञान रूपी प्रकाश से मन की अज्ञानता को दूर करे वही सद्गुरु है - साध्वी सुश्री स्वाति भारती

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

जो ज्ञान रूपी प्रकाश से मन की अज्ञानता को दूर करे वही सद्गुरु है - साध्वी सुश्री स्वाति भारती

गुरु बिन घोर अंधार, गुरु बिन समझ न आवे
दिव्य ज्योति जागृति संस्थान द्वारा हर्षोल्लास से मनाया गया गुरु पूर्णिमा पर्व
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
 उदयपुर/डूंगरपुर/राजस्थान।। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर दिव्य ज्योति जागृति संस्थान शाखा डूंगरपुर द्वारा संभाग के भिन्न भिन्न क्षेत्रों में डूंगरपुर, सागवाड़ा, बाँसवाड़ा, सलुम्बर, राजसमन्द में गुरु पूर्णिमा महोत्सव का आयोजन किया गया। कार्यक्रमों में सभी क्षेत्र के श्रद्धालुओं ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया।  
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
जो ज्ञान रूपी प्रकाश से मन की अज्ञानता को दूर करे वही सद्गुरु है
   साध्वी सुश्री स्वाति भारती जी ने इस अवसर पर आयोजित भव्य महोत्सव में सद्गुरु की पहचान बताते हुए कहा कि संसार के द्वंद से बाहर निकालने के लिए जो ज्ञान रूपी प्रकाश से मन की अज्ञानता को दूर कर इस भव को पार करवा दे, वही सच्चा सद्गुरु है। 
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
   उन्होंने आदि गुरु शंकराचार्य, श्री रामकृष्ण परमहंस, संत तुलसीदास, संत सहजोबाई, महर्षि अरविंद, स्वामी विरजानंद जी, स्वामी दयानंद सरस्वती, रमण महृषि आदि अनेक दृष्टांत देते हुए सद्गुरु एवं सच्चे शिष्य की महिमा को उद्घाटित किया।
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
   उन्होंने कहा जब एक साधक अपने गुरु के आदर्शों को अपनाने का सच्चा प्रयास करता है, तब होती है सच्ची गुरु पूजा। त्याग और संयम से जब श्रद्धा और प्रेम उत्पन्न होता है तब मन ना सिर्फ गुरु मय होता है बल्कि श्वास- श्वास में सकल विश्व के कल्याण की भावना होती है। इस अवसर पर उन्होंने धर्म ग्रंथों एवं महापुरुषों की वाणी के माध्यम से गुरु पूजा का वास्तविक अर्थ बताया।
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
  इस अवसर पर दिव्य ज्योति जागृति संस्थान शाखा दिल्ली की साध्वी सुश्री अवनी भारती जी, साध्वी सुश्री बोध्या भारती जी, साध्वी सुश्री सुबुद्धा भारती जी व साध्वी स्वाति भारती जी ने सद्विचारों द्वारा मानव को उसके वास्तविक लक्ष्य के प्रति जागरूक किया तथा भजन एवं संकीर्तन से वातावरण को आध्यात्मिक ऊंचाइयां दी। 
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
  भजनों के साथ तबले पर गुरु भाई ओमप्रकाश जेठवा, ऑक्टोपैड पर गुरु भाई रजत जी, गिटार पर गुरु भाई पवन जी, ढोलक पर गुरु भाई राजेश जी तथा सिंथेसाइजर पर गुरु भाई प्रशांत जी ने संगत दी। कार्यक्रम में क्षेत्र के गणमान्य नागरिकों ने दीप प्रज्ज्वलन कर गुरु के प्रति श्रद्धा अर्पित की। 
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
प्लास्टिक मुक्त अभियान की अनुपालना 
  साध्वी सुश्री भागीरथी भारतीजी ने बताया कि संस्थान के द्वारा 'प्लास्टिक मुक्त अभियान' के तहत संस्थान के सेवादारों भाई-बहनों के द्वारा खुद ही सिलाई कार्य करते हुए कपड़े की थैलियां तैयार की गई, जिसमे संस्थान द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही सामग्री को इन्हीं कपड़े की थैलियों में ही वितरित कर आम व्यक्ति को भी प्लास्टिक थैलियों का उपयोग नहीं करने हेतु प्रेरित किया गया। 
Divy Jyoti Jagrati Sansthan
हजारों पौधों का हुआ वितरण
   इस अवसर पर दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के संस्थापक सर्व श्री आशुतोष जी महाराज के मार्गदर्शन में संस्थान द्वारा अनेक सामाजिक प्रकल्पों के क्रम में 'हरित धरा मुहिम' के अंतर्गत संस्थान द्वारा सत्संग के पश्चात पौधौं वितरित करते हुए सत्संग प्रेमियों को 'हरित धरा मुहिम' के लिए संकल्पित किया गया।

Ad Code