ये हैं अरब देश के एकमात्र हिंदू शेख

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

ये हैं अरब देश के एकमात्र हिंदू शेख

Kankashi Khimjibhai Hindu Shekh
ये हैं दुनिया के एकमात्र हिंदू शेख, ओमान सुल्तान जरुरत पड़ने पर मांगते हैं इनसे पैसे
   आपको ये जानकर हैरानी होगी कि कनकशी खिमजीभाई, खाड़ी देश ओमान में रहने वाले दुनिया के इकलौते हिंदू शेख हैं। कनकशीभाई ओमान की जानी-मानी हस्तियों में से एक हैं। ओमान के साथ 150 साल पुराना रिश्ता है। 
ओमान में रहने वाले दुनिया के इकलौते हिंदू शेख
   ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद 79 साल की उम्र में मौत हो गई है। शनिवार को उन्होंने आखिरी सांस ली। सुल्तान काबूस 1970 में ब्रिटेन के समर्थन से अपने पिता को गद्दी से हटकार खुद सुल्तान बने थे। उन्होंने ओमान की तरक्क़ी के लिए तेल से होने वाली कमाई का इस्तेमाल किया। लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि कनकशी खिमजीभाई, खाड़ी देश ओमान में रहने वाले दुनिया के इकलौते हिंदू शेख हैं। कनकशीभाई ओमान की जानी-मानी हस्तियों में से एक हैं। ओमान के साथ 150 साल पुराना रिश्ता है। 
Kankashi Khimjibhai Hindu Shekh
आइए जानें कनकभाई के बारे मे 
  कनकभाई मूल रूप से गुजरात के कच्छ से हैं। वे वैष्णव संप्रदाय से संबंध रखते हैं। उनकी कंपनी का नाम है 'रामदास ग्रुप ऑफ कंपनीज' है। 
  इन्हें ओमान के सुल्तान काबूस बिन सईद अल सईद ने शेख की मानद उपाधि दी है। कनक भाई दुनिया के एकमात्र हिंदू शेख हैं। इनके परिवार का ओमान के साथ 150 साल पुराना संबंध है। 
  दुनिया के बड़े बंदरगाहों तक तेजी से माल पहुंचाने के लिए कनकभाई के पड़दादा रामदास ठाकरशी 1870 में मांडवी कच्छ ओमान के सूर नामक स्थान पर स्थायी रूप से बस गए।
  वे भारत से अनाज, चाय और मिर्च-मसाला ले जाकर ओमान में बेचते है और वहां से खजूर, ड्राय लाइम तथा लोभान लाकर भारत में बेचते थे। ओमान की राजधानी मस्कट उस जमाने में सबसे समृद्ध बंदरगाह था। 
Kankashi Khimjibhai Hindu Shekh
  कनक भाई के पिता गोकलदास और दादा खिमजी रामदास ने मिलकर खिमजी रामदास ग्रुप ऑफ कंपनीज की स्थापना की थी। 
  यही ग्रुप आज के समय ओमान का सबसे बड़ा बिजनेस ग्रुप बन चुका है। कनकभाई के दादा खिमजी रामदास उस समय सुल्तान सईद को आर्थिक सहायता करते थे। 
ओमान में है कनकभाई का बोलबाला
  ओमान के अखबारों के मुताबिक, सरकारी मंत्रालयों में कनक भाई का बोलबाला है। उनकी बिजनेस से जुड़ी सूझबूझ से ओमान के सुल्तान काफी प्रभावित रहे हैं। 
  सुल्तान ने ओमान के टूरिज्म बिजनेस को विकसित करने के लिए अपनी Lo’Lo’ याट कनक भाई को भेंट के रूप में दी थी। साल 1960 में कनक भाई की शादी के समय तत्कालीन सुल्तान ने उन्हें चांदी का जग भेंट में दिया था। 
Kankashi Khimjibhai Hindu Shekh
क्रिकेट के शौकीन हैं कनकभाई-
   अखबार टाइम्स ऑफ ओमान के मुताबिक, कनकभाई ओमान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन है। वे ओमान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमेन तथा ओमान क्रिकेट क्लब के फाउंडर भी है। 
  इस क्रिकेट क्लब की तरफ से ओमान और भारत के अलावा पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाड़ी भी खेलते हैं। ओमान में क्रिकेट को आगे बढ़ाने के लिए कनक भाई ने जो योगदान दिया, इसके बदले में इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने उन्हें लाइफ टाइम सर्विस अवार्ड से नवाजा था। 

Ad Code