Headline News
Loading...

Ads Area

मेवाड़ क्षत्रिय महासभा का मामला न्यायलय में है विचाराधीन, मेतवाला ही है महासभा के अध्यक्ष

अशोक सिंह मेतवाला ही मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष है। बालू सिंह कानावत द्वारा जारी निर्वाचित कार्यकारणी का प्रमाणपत्र कूटरचित दस्तावेजों से प्राप्त किया हुवा है, जो की माननीय न्यायलय में विचाराधीन है:- ताणा 
  उदयपुर/राजस्थान।।  मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के महामंत्री भवानी प्रताप सिंह झाला ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है, की अशोक सिंह मेतवाला ही मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष है। बालू सिंह कानावत द्वारा जारी निर्वाचित कार्यकारणी का प्रमाणपत्र कूटरचित दस्तावेजों से प्राप्त किया हुवा है, जो की माननीय न्यायलय में विचाराधीन है। 
  उन्होने बताया की मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के पूर्व अध्यक्ष रणधीर सिंह जी भीण्डर, पूर्व अध्यक्ष महेंद्र सिंह आगरिया के आतिथ्य व् अध्यक्षता में दिनांक १२ जून २०२२ को भूपाल नोबल्स सस्थान परिसर में संम्पन्न हुवे चुनाव जिसमे सभी जिलों के निर्वाचित अध्यक्ष व पदाधिकारी उपस्थित थे। इस प्रकार सभी की उपस्थिति में विधिपूर्वक निर्वाचित कार्यकारिणी ही आधिकारिक रूप में मान्य रहेगी। बालूसिंह कानावत ने उस निर्णय को न मान कर इसके एक महीने बाद पुनः फर्जी तरीके से चुनाव करवा कर जिस प्रकार कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर जो सर्टिफिकेट रजिस्ट्रार कॉपरेटिव से प्राप्त किया है, उसको उन्होंने माननीय न्यायलाय में साक्ष्यों व सबूतों के आधार पर अपील की है। चूँकि अब यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है, अतः इस पर किसी भी पक्ष द्व्रारा कोई टिप्पणी करना अनुचित है। ताणा ने कहा कि उन्हें अपने देश की न्याय व्यवस्था पर पूर्ण विश्वास है, कि उन्हें न्याय अवश्य मिलेगा। 
क्या है पूरा विवादित मामला? 
मेवाड़ क्षत्रिय महासभा का आरोप समाज के भवन पर है भूमाफियाओं का कब्ज़ा, 
समाज के नाम पर की गई बड़ी जालसाज़ी
मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के नाम से संपन्न हुए चुनाव पूर्ण रूप से असंवैधानिक व अवैध
मेवाड़ क्षत्रिय महासभा की केंद्रीय कार्यकारिणी के चुनाव 12 जून को ही हो गए थे संम्पन्न
कुछ तथा कथित लोग है समाज के भवन को हथियाने की फिराक में 
भूमाफियाओं के साथ मिलकर वर्षो से कर रखा है कब्ज़ा 
समाज मे बिखराव जैसी कोई बात नही, समाज मे विभाजन करने वालो के विरुद्ध होगी कानूनी कार्यवाही 
Meera Medpat Udaipur
  मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के केंद्रीय अध्यक्ष श्री अशोक सिंह जी मेतवाला व केंद्रीय महामंत्री श्री भवानी प्रताप सिंह ताणा ने आज प्रेस नोट जारी कर यह जानकारी दी कि मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के चुनाव गत 12 जून 2022 को भूपाल नोबल्स संस्थान में मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के निवर्तमान अध्यक्ष श्री महेंद्र सिंह जी आगरिया व पूर्व अध्यक्ष महाराज रणधीर सिंह जी आगरिया के आतिथ्य में संम्पन हुवे थे जिसमे सम्पूर्ण मेवाड़ के सभी 7 जिलों के निर्वाचित अध्यक्ष व कार्यकारणी उपस्थित थे तथा भूपाल नोबल्स संस्थान में सम्पूर्ण चुनाव प्रक्रिया प्रेस व मीडिया की उपस्थिति में संम्पन हुवे उसके उपरान्त नवनिर्वाचित कार्यकारिणी ने शपथ ग्रहण कर विधि पूर्वक अपना कार्य प्रारम्भ किया। 
Bhawani Singh Tana Udaipur
कुछ भूमाफियाओं के साथ मिलकर वर्षो से कर रखा है कब्ज़ा 
  केंद्रीय महामंत्री भवानी प्रताप सिंह ताणा ने जानकारी देते हुए बताया की समाज के भवन मीरा मेदपाट पर तथाकथित स्वयम्भू अध्यक्ष श्री बालू सिंह जी कांनावत ने कुछ भूमाफियाओं के साथ मिलकर वर्षो से कब्ज़ा कर रखा है जब कि न तो वो कभी इस संस्थान के निर्वाचित अध्यक्ष रहे है, न ही कभी वो इस संस्थान के सदस्य विधि पूर्वक बने है।
सदस्य शुल्क को हजम कर जाना ही रहा है कार्य 
  ताणा ने बताया की कुछ कूट रचित दस्तावेजो के माध्यम से समाज के नाम से धन संग्रह करना, सदस्यता की अवैध रसीद बुक छपवाकर अवैध पैसा एकत्रित कर सदस्य बनाने की रसीद देना व धन संग्रह कर न तो उन सदस्य को कानूनन रूप से सदस्य बनाया व उनके सदस्य शुल्क को हजम कर जाना ही उनका कार्य रहा है। इनके द्वारा किए गए चुनाव पूर्ण रूप से अवैध है।
  ताणा ने कहा की किसी भी सूरत में समाज अपना भवन वापस लेगा। भूमाफियाओं के साथ मिलकर समाज के भवन पर कब्जा करने का प्रयास है। ओर मीडिया में गलत जानकारी देकर भ्रम कर समाज की सम्पत्ति को कब्जा करने का ओछा प्रयास है।
Mewar Kshatriya Mahasabha
सब नाटक सिर्फ सम्पत्ति हड़पने की है साज़िश 
 भवानी प्रताप सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा की कुछ लोग राजपरिवार ओर समाज के प्रबुद्ध वर्ग के खिलाफ बोलकर अपना भूमाफियाओं में प्रभाव जमाने की ओछी राजनीति करने का प्रयास कर रहे हैं। सम्पूर्ण मेवाड़ के राजपूत समाज के सदस्य लामबंद होकर अपनी सम्पत्ति वापस लेंगे। ये सब नाटक सिर्फ सम्पत्ति हड़पने की साज़िश है।
16 वर्ष का है अवैध कार्यकाल 
   ताणा ने बताया की समाज की सम्पत्ति के साथ खिलवाड़ किया गया है ओर अपनी भूमाफियाओं टोली के साथ मिलकर समाज की सम्पत्ति को कब्जा करने का प्रयास किया जा रहा है जिसकी एक कमेटी के माध्यम से सम्पूर्ण पत्रावली की जांच कर समाज की मीटिंग में रख कर कांनावत द्वारा किए गए 16 वर्ष के अवैध कार्यकाल के समस्त कार्य, चंदा, आय व्यव का हिसाब, सम्पत्ति के साथ खिलवाड़ की जांच, दानदाताओ की सूची सार्वजनिक किया जाएगा।
भ्रम पैदा करने का किया जा रहा है प्रयास 
   कुछ भूमाफियाओं के साथ मिलकर समाज में विभाजन करने के प्रयास को गत 12 जून को विफल होने के कारण आज मीटिंग के माध्यम से फिर भ्रम पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है। सम्पूर्ण मेवाड़ क्षत्रिय महासभा की कार्यकारिणी के सदस्य इस कृत्य के खिलाफ प्रस्ताव पर विचार करेंगे ओर समाज की सम्पत्ति को वापस लेंगे।
Ashok Singh Metwala
समाज के नाम से की गई है बड़ी जालसाज़ी 
  ताणा ने कहा की वर्तमान केंद्रीय कार्यकारणी द्वारा सूचना के अधिकार के तहत रजिस्ट्रार सहकारी संस्था उदयपुर से प्राप्त जानकारी से ज्ञात हुवा है कि न तो बालूसिंह जी कांनावत इस संस्थान के कभी प्राथमिक सदस्य थे और न कभी इस संस्थान के अध्यक्ष निर्वाचित हुवे है। विगत 16 वर्षों से समाज, मीडिया व सरकार को भ्रमित कर अपने आप को अध्यक्ष बताकर समाज के नाम से चंदा एकत्रित करना, अवैध वसूली करना व समाज के भवन पर कब्ज़ा करना व बैंकों में क्षत्रिय महासभा के नाम से अवैध खाता खुलवाकर मनमर्जी से पेसो का दुरुयोग करना ही उनका काम रहा है। यही नहीं बल्कि उन्होंने राज्य सरकार को गुमराह कर अवैध दस्तावेज से धन प्राप्त करना व अवैध उयोगिता प्रमाण पत्र सरकार में जमा करवाकर सरकारी धन का दुरुपयोग ही किया है। आज तक क्यो नही श्री बालू सिंह जी कांनावत ने मीरा मेदपाट भवन के दस्तावेजो को समाज के सामने सार्वजनिक किया?
Ashok Singh Metwala
मेवाड़ क्षत्रिय महासभा की केंद्रीय कार्यकारणी निम्न बिंदुओं पर एक कमेठी के माध्यम से निम्न की जॉच कर क़ानूनी कारवाही कर रही है:- 
(1) मीरा मेदपाट भवन की सम्पूर्ण पत्रावली सार्वजनिक करे।  
(2) भवन निर्माण के सम्पूर्ण खर्च को सर्वजसनिक करे। 
(3) विगत 16 वर्षों के दान दाताओं की सूची सार्वजनिक करे। 
(4) क्षत्रिय समाज की ऑडिटर्स टीम द्वारा 16 वर्षो के बैंक लेन देन का ऑडिट करवावे। 
(5) विगत 16 वर्ष से समाज के नाम से चंदा उगाही व संस्था के नाम का जो दुरुयोग किया उसकी भी जानकारी प्राप्त करेगी। 
(6) राज्य सरकार से प्राप्त धन व व्यय की जॉच। 
Mewar Kshatriya Mahasabha
मीडिया में भ्रमित करने के लिए किया गया झूठा प्रचार
  क्षत्रिय महासभा को ऐसा ज्ञात हुआ है कि इस सम्पूर्ण जॉच व प्रश्नों से बचने के लिए बालू सिंह कांनावत समाज व मीडिया में भ्रमित प्रचार कर रहे है जिसकी महासभा द्वारा निंदा निंदा की गई है। महासभा द्वारा सूचना के अधिकार से प्राप्त जानकारी प्रेस नोट के साथ संलग्न कर उपलब्ध भी करवाई गई है व कहा गया है कि इनके द्वारा जारी किसी भी खबर को अवैध माना जावे।
भवन को भूमाफियाओं के चंगुल से करवाएंगे मुफ्त 
   मेवाड़ क्षत्रिय महासभा ने जारी किये अपने बयान में कहा की भूपाल नोबल्स संस्थान व इनके मंत्री महेंद्र सिंह जी आगरिया व पूर्व अध्यक्ष व विधायक महाराज रणधीर सिंह जी भींडर, पूर्व विधायक व भूपाल नोबल्स संस्थान के चेयरपर्सन प्रदीप कुमार सिंह जी सिंगोली व समाज के वरिष्ठ जनों के खिलाफ दुष्प्रचार किया जा रहा है जिसकी वह निंदा करते है व शीघ्र ही दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी। 
Mewar Kshatriya Mahasabha
   ताणा ने कहा की हम समाज को अश्वत करते है कि जल्द ही सम्पूर्ण मेवाड़ के क्षत्रिय समाज की मेहनत से बने भवन को इन भूमाफियाओं के चंगुल से मुफ्त करवाएंगे। आगामी दिनों में हजारों की तादात में मेवाड़ के राजपूत उदयपुर में एकत्रित होंगे व इस भवन को वापस लिया जाएगा।
Mewar Kshatriya Mahasabha
आरोपियों के खिलाफ की जाएगी क़ानूनी कार्रवाई 
  ताणा ने बताया की उच्च स्तरीय समिति की जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद इनके खिलाफ व अवैध रूप से कूट रचित दस्तावेजो से संस्थान के नाम का बैंक में खाता खोलने वालो व इसमे सम्मिलित बैंक कर्मियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी। 
Mewar Kshatriya Mahasabha
मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के नाम का किसी को नही देवे चंदा 
  ताणा ने कहा की मेवाड़ क्षत्रिय महासभा की प्रत्येक जिला इकाई अपना काम सुचारू रुप से कार्य कर रही है व सभी का हमे साथ व सहयोग प्राप्त है, मीडिया के माध्यम से हम सम्पूर्ण जनता से निवेदन करते है कि मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के नाम का किसी को फिलहाल चंदा नही देवे।

Post a Comment

0 Comments