अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण की खुशी में झूमने लगे गणेशजी

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण की खुशी में झूमने लगे गणेशजी

अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण की खुशी में बालमुकुन्द गणेशजी द्वारा महायज्ञ
कम्प्यूटराईज़्ड 3डी टेक्नोलॉजी ने दिखाया कमाल
   बांसवाड़ा/राजस्थान।। इन दिनों सभी शहरों में गणेश महोत्सव की धूम मची हुई है। लेकिन बाँसवाड़ा जिले में किशनपोल बालमुकुन्द गणेश मण्डल तेली समाज द्वारा अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण की खुशी में बालमुकुन्द गणेशजी द्वारा महायज्ञ की झांकी सब से हट कर है। 
Ganesh Ji ki Jhanki
मुषकराज की टिम द्वारा महायज्ञ में आहुतियां 
  इस झांकी में भगवान बालमुकुन्द गणेशजी राम नाम के कीर्तन में झुम रहे है एवं मुषकराज की टिम द्वारा महायज्ञ में आहुतियां दी जा रही है व कीर्ति स्तम्भ पर रामजी द्वारा भगवा ध्वज लहराया जा रहा है एवं झांकी में अयोध्या श्री राम जन्मभूमि में बन रहे भव्य मंदिर का हुबहु 3डी मॉडल बनाया गया है। बाँसवाड़ा जिले में भक्तों में खुशी की लहर है कि श्री राम जन्मभूमि के दर्शन का लाभ मिल रहा है। मण्डल द्वारा बताया गया है कि अयोध्या में बन रहे मंदिर के हुबहु किया गया है जिसकों बनाने में पिछले 4 महिने लग गये है। झांकी में 101 किलो लोहा एवं उपर से थर्मोकॉल का डिजाइन किया गया है।
tableau of ganesh ji
जिले की एक मात्र चलचलित सम्पूर्ण रुप से कम्प्यूटराईज़्ड ऑटोमेटिक झांकी
 इस झांकी की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह बाँसवाड़ा जिले की एक मात्र चलचलित सम्पूर्ण रुप से कम्प्यूटराईज़्ड ऑटोमेटिक झांकी है। यह मण्डल प्रतिवर्ष सभी पाण्डालों से हट कर झांकी तैयार करता है जैसे की प्रभु रथ में हुए सवार, कालिया मर्दन, सागर मंथन, मटकी फोड़ आदि झांकी प्रतिवर्ष स्थापित कर आकर्षण का केन्द्र बना रहता है।
Ganesh Ji ki Jhanki
बालमुकुन्द के दरबार में सायं दर्शन के लिए भक्तों का लगता है ताता 
   किशनपोल बालमुकुन्द पाण्डाल में सायं भगवान के दर्शन करके हर कोई भाव विभोर हो जाता है एवं दर्शन के लिए भक्तों का ताता लगता है और पाण्डाल के सामने हर वक्त लोग दर्शन के साथ सेल्फी में लगे रहते है। इस किशनपोल बालमुकुन्द गणेश मण्डल तेली समाज को भारत साधुसमाज के महामंत्री- महामण्डलेश्वर श्री हरिओमदासजी महाराज, लालीवाव मठ द्वारा संकल्प भी दिलाया गया है कि प्रतिवर्ष छोटी प्रतिमां स्थापित कि जाए तो यह किशनपोल बालमुकुन्द गणेश मण्डल प्रतिवर्ष 2 से 3 फिट की छोटी प्रतिमां स्थापित करता है एवं यह रामलला जन्मभूमि मॉडल की झांकी भी इन्हीं के मार्गदर्शन में तैयार की गई है। झांकी में प्रतिमा मिट्टी से कलाकार मांगीलालजी प्रजापत द्वारा बनाई गई है।

Ad Code