सरकारी स्कूल शिक्षकों द्वारा स्कूल की छात्रा से छेड़छाड़, जांच में जुटे अधिकारी

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

सरकारी स्कूल शिक्षकों द्वारा स्कूल की छात्रा से छेड़छाड़, जांच में जुटे अधिकारी

 शिक्षा के मंदिर बालिका का शोषण, विद्यालय प्रबंधन ने मामले को दबाया
प्रिंसीपल ने एलडीसी महिला शिक्षिका को मामले से दूर रहने की दी नसीहत
मिडियाकर्मीयों के पहुंचने पर विद्यालय प्रबंधन में मची खलबली
  
  अलवर/राजस्थान।। बर्डोद कस्बे के समीपवर्ती ग्राम पंचायत माजरी खोला में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में मुंडावर में अध्ययनरत एक छात्रा से विद्यालय में ही कार्यरत दो शिक्षकों द्वारा छेड़छाड़ करने का मामला सामने आया है। मामले में पिडित छात्रा द्वारा महिला शिक्षिका और प्रिंसिपल को मौखिक शिकायत करने के बाद शिक्षा विभाग के अधिकारी गहनता से मामले की सत्यता की जांच करने में जुटे हैं। 
  प्राप्त जानकारी के अनुसार विद्यालय में अध्ययनरत कक्षा ग्यारहवीं की एक छात्रा से विद्यालय में ही कार्यरत शारिरीक शिक्षक सहित एक अन्य शिक्षक उक्त छात्रा से छेड़छाड़ एव अश्लील बातें करता है। जिसकी मौखिक शिकायत पिडित छात्रा ने विद्यालय में ही एलडीसी के पद पर कार्यरत महिला शिक्षिका से की। महिला शिक्षिका और पिडित छात्रा ने इस गंभीर मामले की शिकायत विद्यालय के प्रिंसीपल से की। 
  आपको बता दें कि मामले की शिकायत शनिवार को की गई थी। लेकिन सोमवार को दोपहर तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। इस गंभीर मामले की भनक मिलने पर क्षेत्रीय मिडियाकर्मी विद्यालय पहुंचे तो विद्यालय प्रबन्धन में खलबली मच गई। जिस पर आरोपित शिक्षक इधर-उधर मोबाइल से अपने परिचित लोगों से बात करने लगे। विद्यालय प्रबंधन द्वारा मुंडावर उपखंड के शिक्षा अधिकारी को विधालय मे मिडियाकर्मीयो के आने की सूचना के बाद पहुंचे सीबीइओ ने कैमरे के सामने बोलने से मना कर दिया और कहा कि मैं मामले की जांच करवाता हूं।
   पंकज बडगुजर, एसडीएम मुंडावर का कहना है कि सीबीइओ द्वारा मामले की जानकारी मिली थी। प्रशासनिक कार्यों के चलते जिला कार्यालय में आया हुआ हु। मामले की गहनता से जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
 वही रिषभदेव, प्रिंसीपल राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय माजरी खोला का कहना है कि छात्रा द्वारा मौखिक रूप से शिकायत मिली थी। जांच कमेटी बनाकर जांच करवाई है। उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट सौंप दी जाएगी।
   इस मामले की जानकर एलडीसी नीतू चौधरी का कहना है कि पिडित छात्रा द्वारा मुझे मौखिक शिकायत की गई थी। मैंने विद्यालय के प्रिंसीपल को तत्काल इस मामले से अवगत कराया था। लेकिन मुझे मामले से दूर रहने की नसीहत के साथ अपना काम करने की बात कही गई।
 वही आरोपित शारिरिक शिक्षक का कहना है कि मेरे ऊपर झूठे आरोप लगे हैं। मैं तो खेल प्रतियोगिता में गया हुआ था।

Ad Code