खुले में शौच करने पर होना पड़ सकता है बेइज्जत

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

खुले में शौच करने पर होना पड़ सकता है बेइज्जत

    एनडीएमसी क्षेत्र में यदि खुले में शौच की, तो आपको बेइज्जत होना पड़ सकता है. इसलिए खुले में शौच से परहेज करें.
     लोगों को दिक्कत न हो, इसके लिए एनडीएमसी ने जगह-जगह सार्वजनिक शौचालय बनाये हैं. विशेष रूप से झुग्गी बस्ती व रेलवे पटरी के किनारे लोगों को खुले में शौच से रोकने के लिए कुछ शुभंकर (व्यक्ति को पुतला पहनाकर) नियुक्त किये हैं.
    यह विशेष अभियान सोमवार से शुरू हो गया. खासबात यह है कि शाम को कनॉट प्लेस स्थित पालिका मार्केट के बाहर की लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया गया.
     दरअसल शहरी विकास मंत्रालय एनडीएमसी को खुले में शौच मुक्त घोषित कर चुका है और अब इसके लिए सर्वेक्षण कराने की तैयारी भी कर रहा है. यह सव्रेक्षण चार जनवरी से शुरू होगा. इसी को ध्यान में रखते हुए एनडीएमसी ने सोमवार 19 दिसम्बर से विशेष स्वच्छता जागरूकता अभियान शुरू किया है. यह अभियान लगातार चलेगा.
     दोपहर बाद कनॉट प्लेस में ‘बैग पाइपर' बैंड बजाकर लोगों को जागरूक किया गया. स्वच्छ भारत अभियान की धुन पर बज रहे इस बैंड के साथ कुछ लोग थिरक भी रहे थे और लोगों को स्वच्छ रखने का संदेश भी दे रहे थे. इसके साथ ही एनडीएमसी अपने सभी सर्कलों में 28 शुभंकर नियुक्त किये हैं. यानी एक सर्कल में दो शुभंकर बारी-बारी से लोगों को सफाई के प्रति जागरूक करेंगे.
     रेलवे पटरी व झुग्गी-बस्ती के आसपास यह शुभंकर विशेष ध्यान रखेंगे. यदि कोई व्यक्ति खुले में शौच करता पाया गया, तो उसे रोककर भविष्य में दोबारा खुले में शौच न करने के लिए प्रेरित करेंगे. एनडीएमसी के अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने इस सव्रेक्षण में पहले स्थान पर आने का लक्ष्य रखा है. पिछले सव्रेक्षण में एनडीएमसी का चौथा स्थान रहा था.

Ad Code