नजीब जंग ने दिल्ली के उपराज्यपाल पद से दिया इस्तीफा, कांग्रेस ने कहा मोदी व केजरीवाल में हुई है डील

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

नजीब जंग ने दिल्ली के उपराज्यपाल पद से दिया इस्तीफा, कांग्रेस ने कहा मोदी व केजरीवाल में हुई है डील

    नई दिल्ली।। दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने आज इस्तीफा दे दिया. यह इस्तीफा उन्होंने ऐसे समय में दिया है जब 25 दिसंबर से उनके छुट्टी पर जाने की सूचना थी. नजीब ने एक पत्र जारी करके सभी को धन्यवाद दिया है. पत्र में उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी शुक्रिया अदा किया है कि उन्होंने उनको सहयोग दिया. नजीब जंग ने अपनी तरफ से जारी किये गये पत्र मे उन्होंने कहा, वो अपने पहले प्यार एकेडमिक कैरियर की तरफ वापस जा रहे हैं. उनका डेढ़ साल का कार्यकाल अभी बाकी था. उनके इस्तीफे के बाद राष्ट्रीय राजधानी के अगले उपराज्यपल के नाम को लेकर अटकलों का दौर शुरू हो गया है. जंग के इस्तीफे के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उनसे मुलाकात करने की खबर है. केजरीवाल आज दिन में रांची के दौरे पर गये थे.
     कांग्रेस नेता अजय माकन ने जंग के इस्तीफे के बाद सवाल उठाया है. उन्होंने कहा है कि नजीब जंग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच डील हुई है. उन्होंने कहा कि इस संबंध में केंद्र सरकार को बताना होगा. माकन ने कहा कि ऐसी क्या डील हुई कि जंग को हटना पड़ा. उन्होंने कहा कि जंग के इस्तीफे के बाद भाजपा क्या आरएसएस के किसी नुमाइंदे को इस पद पर लायेगी?
     उधर, जंग के इस्तीफे के बाद दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलने पहुंचे हैं. हालांकि यह साफ तौर पर नहीं कहा जा सकता कि इस मुलाकात का संबंध नजीब जंग के इस्तीफे से ही है.
     नजीब जंग ने लिखा है कि शुरू से उनकी इच्छा थी कि वो पढ़ाई लिखाई के क्षेत्र मे वापस लौट जाएं अब वो अपनी इच्छा पूरी कर रहे हैं. नजीब पहले भी वाइस चांसलर और प्रोफेसर रह चुके हैं. नजीब के अचानक दिये गये इस्तीफे पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. बीते सालों में दिल्ली सरकार और राज्यपाल के बीच तनातनी की खबर आती रही. नजीब 2013 में उपराज्यपाल बने थे. केंद्र और दिल्ली में सरकार बदली लेकिन नजीब अपने पद पर बने रहे. इससे यह धारणा बनी कि उन्होंने कांग्रेस सरकार के बाद भाजपा सरकार का भी विश्वास हासिल किया. 2009 से 2013 तक वो जमिया मिलिया इस्लामिया के वाइस चांसलर थे.
भाजपा की क्या है प्रतिक्रिया?
    दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने कहा, यह फैसला चौकाने वाला नहीं है. वह एकेडमिक करियर में जाना चाहते थे यह उनकी इच्छा पर है. उन्होंने शुक्रिया अदा किया है क्योंकि भाजपा स्वतंत्र तरीके से काम करती है यही कारण है कि उन्होंने भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया.
इस्तीफे पर क्या कहती है कांग्रेस?
    कांग्रेस नेता जेपी अग्रवाल ने इस्तीफे पर चिंता जताते हुए कहा, भाजपा के कहने पर उन्होंने इस्तीफा दिया है. भाजपा को जबतक उनका इस्तेमाल करना था किया. दिल्ली में माहौल बिगाड़ने के लिए उनका खूब इस्तेमाल किया गया अब उप राज्यपाल को लगा होगा कि इसमें मेरा कोई फायदा नहीं है तो उन्होंने इस्तीफा दे दिया. उपराज्यपाल पर कई आरोप लगे उन पर दिल्ली में माहौल बिगाड़ने का आरोप लगा. इसका भी खुलासा जल्द हो जायेगा. अगर उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में जाना था तो पहले क्यों नहीं गये. वो वहीं से तो आये थे.
आम आदमी पार्टी ने क्या कहा?
    नजीब जंग के दिल्ली के उपराज्यपाल के पद से इस्तीफे के बाद आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने उन्हें शुक्रिया अदा किया. विश्वास ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि दिल्ली की निर्वाचित सरकार से उनका जो व्यवहार था, वह उनका निजी व्यवहार नहीं था. शायद उन्हें कहीं से ऐसा लगा होगा कि लोकतांत्रिक सरकारों का आदर करना चाहिए, इसलिए उन्होंने इस्तीफा दे दिया. कुमार विश्वास ने उम्मीद जतायी कि नजीब जंग की जगह जो व्यक्ति इस पद पर आयेंगे उनसे हमारी उम्मीद होगी.

Ad Code