Headline News
Loading...

Ads Area

बीजेपी नेता ने बुढ़ापे में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही अपनी माँ को घर से बाहर निकाला

बीजेपी नेता ने अपने पिता के साथ मिलकर निकाला अपनी माँ को घर से बाहर 
बीमारी की हालत में थी पीड़ित बजुर्ग महिला    
    लुधियाना।। लुधियाना पंजाब में रहने वाली इस महिला का नाम सरोज कालिया है। बुढ़ापे की मारी हुई इस उम्र में भी परिवार की तरफ़ से नही मिला सुख। शुगर की बीमारी लगी होने के कारन इस महिला की दोनों किडनियां ख़राब हो चुकी है। लुधियाना के केन्सर हॉस्पिटल में इस महिला को हफ़्ते में 2 बार डेलसीस करवाना पड़ता है। इस बुढ़ापे में जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रही इस बूढ़ी महिला का अपने भाई के सिवा कोई सहारा नही है। इसका सारा सारा ख़र्च और इलाज़ इस महिला का भाई सुरिंदर शर्मा ही उठा रहा है जो की लुधियाना का निवासी है जीते जी इस महिला के बेटे गौरव कालिया जो की लुधियाना में भाजपा नेता ने अपने ही पिता सतीश कालिया के साथ मिलकर अपनी माँ सरोज कालिया को घर से बेघर कर दिया। 
    मीडिया के सामने सरोज कालिया पीड़ित महिला ने अपना दुखड़ा सुनाया। इस घोर कलयुग में रूह कांप जाएगी की एक बेटा जिसने अपनी माँ की कोख़ से जन्म लिया हो वह बड़ा होकर अपनी माँ के साथ ऐसा व्यहार करेगा कभी सुना नही होगा। ठीक इसी तरह आरोपी गौरव कालिया पुत्र सरोज कालिया ओर पति सतीश कालिया पत्नी सरोज कालिया इन दोनों बाप बेटों ने मिलकर इस पीड़ित महिला सरोज कालिया को घर से बाहर का रास्ता दिखाया। 
25 लाख रुपये खा चुका है 
     अभी तक अपने सगे मामा सुरिंदर से लेकर लगातार अपनी माँ से पैसे की डिमांड न पूरी होने के कारण आख़िर अपनी माँ को घर से बाहर निकाल दिया और मकान की रजिस्ट्री अपने नाम करवा कर 15 लाख रुपये उसी एरिया में रहने वाले एक व्यक्ति से ब्याने के रूप में भी खा चुका है यह आरोपी। 
    इंसाफ़ के लिए दर दर भटक रही इस महिला को प्रशासन की तरफ़ से भी कोई इंसाफ नही मिला पीड़ित महिला सरोज कालिया का पति सतीश कालिया सरकारी नोकरी से रिटायर्ड हो चुका है अपनी पत्नी को मारने में कई साजिशें रची पर भगवान की कृपा होने के कारण पीड़ित महिला को कुछ नहीं हुआ। कोर्ट की तरफ़ नॉन वे लेबल वारंट लास्ट 2018 तक निकलते रहे पर यह भागने में कामयाब हो जाता था पीड़ित महिला ने कहा बीजेपी सरकार के चलते इसको पुलिस नही पकड़ पाई, क्योंकी इसका बेटा बीजेपी में नेता था। 
     पीड़ित महिला और महिला के भाई सुरिंदर ने आरोप लगाया की लुधियाना में भाजपा के पूर्व प्रधान रविंदर अरोड़ा ओर पंजाब प्रधान श्वेत मलिक के ओर लुधियाना के अकाली नेता मदन लाल बग्गा की वज़ह से प्रशासन कोई करवाई नही करता था। गौरव कालिया के सगे मामा सुरिंदर शर्मा ने पत्रकारों को बताया की अपने दोस्तों के साथ आधी रात को उसके अपने घर तेजधार तलवारों से हमला भी करना आया था डर से सहमे मामा ने अपनी जान को ख़तरे में ओर भाजपा सरकार होने की वज़ह से प्रशासन की तरफ से कोई इंसाफ नही मिला। 
    जब इस केस के बारे में डिवीज़न नंबर 8 के प्रभारी मोहन लाल से बातचीत की तो उन्होंने कहा की अगर अब कोई कोर्ट की तरफ़ से वारंट आया तो वह कानून की हदायतो के मुताबिक आरोपी को पकड़कर कारवाई करेगे।
 

Post a Comment

0 Comments