हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश से फर्जीवाड़ा कर शातिरों ने 11.87 लाख रुपये हड़पे

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश से फर्जीवाड़ा कर शातिरों ने 11.87 लाख रुपये हड़पे

    लखनऊ।। इलाहाबाद हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश बीसी सक्सेना के कर्मचारी हुसड़िया निवासी पंकज विहान ने फर्जीवाड़ा कर 11.87 लाख लाख रुपये हड़प लिए। सेवानिवृत्त न्यायाधीश बीसी सक्सेना लखनऊ के महानगर की न्यू हैदराबाद कॉलोनी निवासी हैं, इस फ्रॉड के मामले की एफआईआर उनकी पत्नी माया सक्सेना ने दर्ज कराई है।
   माया सक्सेना का आरोप हैं कि उन्होंने एजेंसी के अधिकारियों से शिकायत की तो पंकज को हटाकर,दूसरा कर्मचारी भेज दिया गया। कुछ दिन पहले उन्होंने सिंडीकेट बैंक स्थित संयुक्त खाते का एक चेक किसी को दिया था जो बाउंस हो गया।वह 20 नवंबर को बैंक पहुंची और स्टेटमेंट निकलवाया तो होश उड़ गए।पता चला कि छह सितंबर से 10 नवंबर के बीच उनके खाते से 11.87 लाख लाख रुपये आईसीआईसीआई बैंक के एक खाते में ट्रांसफर किए गए हैं। उक्त खाता पंकज विहान का पाया गया।पंकज विहान ने उनके पति के जाली हस्ताक्षर बनाकर बैंक को एक प्रार्थनापत्र दिया और पति के मोबाइल नंबर पर मोबाइल बैंकिंग सेवा शुरू करा दी।इसके बाद धीरे-धीरे वह खाते से रुपये निकालता गया। इस फर्जीवाड़े में पोर्शिया हील एट होम एजेंसी का मैनेजर नरेंद्र भी शामिल है।दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।
    इंस्पेक्टर अशोक कुमार सिंह का कहना है कि सेवानिवृत्त न्यायाधीश और उनकी पत्नी काफी बुजुर्ग हैं, इसलिए अपनी देखरेख के लिए गोमतीनगर के विनयखंड स्थित पोर्शिया हील एट होम एजेंसी के मैनेजर नरेंद्र कुमार से एक व्यक्ति को भेजने को कहा।नरेंद्र ने तीन सितंबर को हुसड़िया निवासी पंकज विहान को उनके घर भेजा,कुछ ही दिन बाद बुजुर्ग दंपती ने पंकज को पर्स से रुपये चुराते हुए पकड़ लिया। अभी पूरे मामले की जांच की जा रही है। उसके बाद दोषी के ख़िलाफ़ कार्यवाही की जाएगी।

Ad Code