AC से फैला कोरोना वायरस, तीन परिवारों के 9 लोग हुए संक्रमित

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

AC से फैला कोरोना वायरस, तीन परिवारों के 9 लोग हुए संक्रमित

हाल ही में दिल्ली एम्स डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया ने सेंट्रल AC को खतरनाक करार दिया था 
   नई दिल्ली।। चीन के वुहान शहर में कुछ नए मरीजों के कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर डॉक्टर हैरत में है | खबरों के मुताबिक इस वायरस ने अब अपना रंग बदलना शुरू कर दिया है | वुहान से लौटा एक परिवार ग्वांगझोउ के एक रेस्टोरेंट में खाना खाने गया था | इनमें से परिवार के एक सदस्य में कोरोना के लक्षण थे जिसके बारे में उसे खुद नहीं पता था | कुछ दिनों बाद इस रेस्टोरेंट में खाना खाने वाले नौ अन्य लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण दिखने शुरू हो गए| इसके बाद सभी को अस्पताल में दाखिल कराया गया है | 
   पीड़ितों के मुताबिक यह वायरस AC के जरिए रेस्टोरेंट में फैल गया, जिससे एक दूसरे के आसपास बैठे तीन परिवार के लोग संक्रमित हो गए | इन तीनों परिवारों का एक-दूसरे से कोई संपर्क नहीं था | हालांकि, रेस्टोरेंट में डिनर करने वाले अन्य 73 लोग और कर्मचारी संक्रमित नहीं पाए गए | चीन के रेस्टोरेंट से कोरोना फैलने की यह बात एक रिसर्च में सामने आई है | हालांकि कुछ दिनों पूर्व एम्स दिल्ली के डायरेक्टर डॉक्टर गुलेरिया ने दावा किया था कि सेंट्रल AC का इस्तेमाल इन दिनों खतरे से खाली नहीं है | इससे भी संक्रमण फ़ैल सकता है | 
    New York Times के मुताबिक, चीन के Centers for Disease Control and Prevention के रिसर्च पेपर में विशेषज्ञों ने इस बात का जिक्र किया है | विशेषज्ञों ने निष्कर्ष निकाला कि यह तीनों परिवार, एक ही व्यक्ति से संक्रमित हुए जो ‘परिवार A’ का सदस्य था | संक्रमित मरीज वाले इस परिवार को चीन के विशेषज्ञों ने ‘परिवार A’ नाम दिया है, जबकि दो अन्य परिवारों को ‘परिवार B’ और ‘परिवार C’ नाम दिया गया है | 
    इसे इस तरह से समझाया गया कि 24 जनवरी को ग्वांगझोउ के रेस्टोरेंट में ‘परिवार A’ ने खाना खाया | एक दिन बाद उस परिवार की 63 वर्षीय एक बुजुर्ग महिला को खांसी और बुखार की समस्या हुई थी | जांच में उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया | रिपोर्ट के अनुसार, दो सप्ताह के अंदर उन नौ लोगों के भी कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आए, जिन्होंने 24 जनवरी को उसी रेस्टोरेंट में खाना खाया था | इनमें से चार उस बुजुर्ग महिला के रिश्तेदार थे, जबकि अन्य संक्रमित लोग ‘परिवार A’ की टेबल के दोनों तरफ बैठे थे | 
    चीन के विशेषज्ञों ने निष्कर्ष निकाला है कि आपस में सीधा संपर्क ना होने के बावजूद इन लोगों को रेस्टोरेंट में ‘परिवार A’ के पास बैठने की वजह से कोरोना वायरस फैला | यह लोग ‘परिवार A’ के पास करीब एक घंटे तक बैठे रहे | ‘परिवार C’ की टेबल के ऊपर AC लगा था जिसकी हवा तीन अन्य टेबल की तरफ जा रही थी | चूंकि कोरोना वायरस जनवरी में वुहान से आगे नहीं फैला था, इसलिए शोधकर्ताओं का मानना है कि वुहान के ‘परिवार A’ ने वायरस को अन्य दो परिवारों में फैलाया | 
   उधर New York Times की रिपोर्ट के अनुसार, विशेषज्ञों का मानना है कि इस तरह के मामले आने और यह महामारी खत्म होने के बाद लोगों की बाहर खाना खाने की आदत में बदलाव आएगा | चीन के शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि यह वायरस AC की हवा में ड्रॉपलेट्स के जरिए पूरे रेस्टोरेंट में फैला जिसमें सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात AC के एयरफ्लो की दिशा थी | फ़िलहाल भारत समेत एशिया के तमाम देशों को इस शोध को गंभीरता से लेना होगा | इस मामले को लेकर अमेरिका और यूरोप ने सतर्कता बरतना शुरू कर दिया है |

Ad Code