सावधान : ऊपर वाला सब यही बराबर करता है ..

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

सावधान : ऊपर वाला सब यही बराबर करता है ..

जैसी करनी - वैसा फल - - - - -आज नहींं तो निश्चित कल 
  आपको बता दे के फोटो में जमीन पर यह जो भारी भरकम काया वाले महोदय जो बैठे है वह IAS सजल चक्रवर्ती झारखंड के मुख्यसचिव रहे हैं। लालू के चारा घोटाले में दोषी सिद्ध हुए चक्रवर्ती के न जाने कितने IAS/IPS पैर छूते रहे होंगे, मगर आज इनकी बेबसी देखकर मन बहुत विचलित हुआ। आजकल इनका वजन 150 kg के आस पास है, ये कई बिमारियों से ग्रसित हैं और ठीक से चल भी नही पाते है। इन महोदय की रांची कोर्ट की पहली मंज़िल में पेशी थी, एक सीढ़ी घसीट कर उतरे। फिर दूसरी सीढ़ी पहुँचने के लिए खुद को घसीट रहे थे। यह दृश्य जीवन का यथार्थबोध कराने वाला था। 
     माता-पिता नही रहे, भाई सेना में बड़े अफसर थे, अब वे भी नही रहे जिसको गोद लिए, उसकी शादी हो गई। अब उसे भी इनसे मतलब नहीं है। अपने घर मे कुछ बन्दर और कुत्ते पाल रखे हैं, ये शानो शौकत, पैसे सब बेकार सिद्ध हुए......अब बस मृत्यु ही शायद इनका कष्ट दूर कर सकती है।
     जरा सोंचिये! कल तक बड़े-बड़े अधिकारी/कर्मचारी जिनकी गाड़ी का दरवाज़ा खोलने के लिए आतुर रहते थे, वही आज दुनिया के सामने जमीन पर असहाय पड़ा था। उसने दो शादी की, मगर दोनों बीबियों ने तलाक दे दिया। कोर्ट में सबका कोई न कोई आया था, लेकिन वे अकेले थे.. इसकी वजह बिल्कुल स्पष्ट है कि जब वह पद पर रहे होंगे, सिर्फ धन अर्थात रुपैया को ही अपना सब कुछ मान लिए होंगे। शायद किसी की भी दिल से इन्होने मदद नहींं की होगी। अगर की होती तो शायद आज कोई न कोई उनके लिये जरूर खड़ा रहता...........। 
     एक बात तय मानिए, भ्रष्टाचार यानी लूट-खसोट की कमाई सर चढ़कर अपना असर दिखाती है। इसलिये जब हम सामर्थ्यवान हों तो हमें दूसरे की मदद जरूर करनी चाहिए, जिससे की लोग बाद में आपको भी याद करें, आपके साथ रहे। इसलिये जीवन को जीवन्त बनायें। लोगों की मदद करते हुए अपना जीवन जिएं। पाप की कमाई आखिर किसके लिए----? जरा सोंचिए तो सही कि पैसा बहुत कुछ तो है पर, सब कुछ नहींं।

Ad Code