कोरोना से बचाव के लिए ये चीजे भी है कारगर

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

कोरोना से बचाव के लिए ये चीजे भी है कारगर

इस घरेलू नुस्खे से बढ़ेगा ऑक्सीजन लेवल
     नई दिल्ली।। देशभर में कोरोना से संक्रमित मरीजों कि संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. आलम ये है कि इनके इलाज के लिए अस्पतालों में अब बेड और ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी होती जा रही है. आजकल सोशल मीडिया पर एक पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है, इस पोस्ट में शरीर के ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाने का घरेलू नुस्खा बताया जा रहा है. आइए जानते हैं क्या हैं वो नुस्खा.
कपूर, लौंग, अजवाइन से बढ़ेगा ऑक्सीजन लेवल
     इस पोस्ट में कहा जा रहा है कि कपूर, लौंग, अजवाइन और यूकेलिप्टस के तेल की कुछ बूंदें मिलाकर सूंघने से शरीर में कंजेशन यानी जकड़न की समस्या को दूर कर ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने में मदद मिलती है.
    इस वायरल पोस्ट के अनुसार कपूर, लौंग, अजवाइन और यूकेलिप्टस के तेल की कुछ बूदें मिलाकर एक पोटली बना लें और उसे दिन भर सूंघते रहें. ऐसा करने से शरीर का ऑक्सीजन लेवल बढ़ता है और कंजेशन की समस्या दूर होती है. इस तरह की पोटली लद्दाख में भी पर्यटकों को दी जाती है जब उनका ऑक्सीजन लेवल कम होने लगता है. यह एक घरेलू नुस्खा है.’ सांस से जुड़े हल्के-फुल्के इंफेक्शन के मामले में यह थेरेपी आपको अच्छा महसूस करने में मदद कर सकती है.
     बता दें कि कुल मिलाकर देखा जाए तो कोरोना से बचने या फिर कोरोना हो जाने पर ठीक होने के लिए काढ़ा पीने से लेकर स्टीम लेने और आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाने जैसे कई उपाय इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहे हैं. 
टोफू का सेवन करने से इम्यून सिस्टम होता है मजबूत 
    सोयाबीन को सुपरफूड कहा जाता है. यह दलहन के बजाय तिलहन की फसल मानी जाती है. सोयाबीन दलहन की फसल है शाकाहारी मनुष्यों के लिए इसको मांस भी कहा जाता है क्योंकि इसमें बहुत अधिक प्रोटीन होता है. इसमें प्रोटीन के साथ-साथ एमिनो एसिड के अलावा विटामिंस और मिनरल्स पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं. सोयाबीन के दूध से टोफू तैयार किया जाता है.
    इसके साथ ही विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और विटामिन ई की मात्रा ज्यादा होती है. इसके अतिरिक्त सोयाबीन में आइसोफ्लेवॉन्स नामक गुणकारी तत्व पाया जाता है. सोयाबीन प्रोटीन का मुख्य स्त्रोत भी कहा जाता है. इसमें प्रोटीन 40 प्रतिशत तक होता है. इसके अलावा, सोयाबीन से दूध भी तैयार किया जाता है.
    बता दें कि इस दूध को जमाकर दही बनाया जाता है और दही को पनीर की तरह टुकड़ों में काट और प्रेस कर टोफू बनाया जाता है. इसका अविष्कार चीन में हुआ था. इसे बीन कर्ड भी कहा जाता है. ये स्वाद में मीठा और नमकीन होता है. पनीर की तुलना टोफू में कैलोरी बहुत कम होती है.
   इस को पनीर की तरह सब्जियों में डालकर बनाया जाता है. टोफू को फ्राई कर स्नैक्स में भी यूज कर सकते हैं. हम आपको टोफू से होने वाले कुछ खास फायदे बताते हैं.
टोफू से होने वाले फायदे
   टोफू के सेवन से हड्डियां और मसल्स मजबूत होती हैं. यह बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है. इसके सेवन से दिल की बीमारियां का जोखिम कम हो जाता है. विशेषज्ञों की मानें तो टोफू के सेवन करने से वजन कम करने में भी मदद मिलती है.
     इसके सेवन से माइग्रेन का खतरा भी कम हो जाता है. यह ब्लड शुगर को सामान्य रखता है और डायबिटीज में आराम मिलता है. प्रोस्टेट कैंसर की रोकथाम में मदद करता है. यह किडनी की बीमारियों में फायदा होता है. टोफू के सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है. खासकर कोरोना काल में इम्यून सिस्टम को मजबूत करने की सलाह देते हैं.
कोरोना काल में करें हल्दी का सेवन
    हल्दी यूं तो हमारे भोजन का अभिन्न हिस्सा है. हर दिन सब्ज़ी बनाते वक़्त चुटकी भर हल्दी हम ज़रूर मिलाते हैं, पर क्या आप हल्दी के इन अद्भुत गुणों को जानते हैं. हल्दी के फायदे बहुत सारे होते हैं. हल्दी को आमतौर पर हमारे देश में एक मसाला माना जाता है.
     हल्दी में प्रोटीन, विटामिन ए, कार्बोहाईड्रेट और मिनरल्स की प्रचुर मात्रा के अलावा एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-फंगल और एंटीसेप्टिक तत्वों वाले कई सारे ऐसे औषधिय गुण पाए जाते हैं. जिसकी वजह से हल्दी का उपयोग न सिर्फ हमें कैंसर, सर्दी -खांसी जैसी गंभीर बीमारियों से बचाती है और सेहतमंद बनाए रखने में मदद करती है, बल्कि हमारी खूबसूरती को बढ़ाने में भी बेहद कारगर साबित होती है.
यह हैं हल्दी के फायदे
     बता दें कि अगर आपको मौसम, एलर्जी या किसी इंफेक्शन की वजह से अचानक बाल झड़ने लगे हैं, तो ऐसे में अगर आप कच्ची हल्दी के रस में चुकंदर की पत्तियों का रस मिलाकर बालों में लगाती हैं तो कुछ ही दिनों में बालों का झड़ना बंद हो जाएगा.
    रोजाना कम से कम 1 ग्राम हल्दी का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है. जिससे शरीर को मौसमी बीमारियों से लड़ने की शक्ति भी मिलती है. इसके साथ ही ये शरीर में टी.बी की बीमारी को बढ़ाने वाले हानिकारक कारकों को खत्म करती है. वहीं कोरोना काल में इसका सेवन करना बहुत ही फायदेमंद हो सकता है.

Ad Code