इस्लाम में मर्दों के लिए 72 हूरें और औरतों के लिए कुछ भी नहीं ऐसी नाइंसाफी क्यों?

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

इस्लाम में मर्दों के लिए 72 हूरें और औरतों के लिए कुछ भी नहीं ऐसी नाइंसाफी क्यों?

एक बार जरूर देखे क्योंकि हंसी पर सबका बराबर हक़ है!

Ad Code