जब मुगलों से बचने के लिए मुस्लिम महिलाओं द्वारा जौहर किया गया

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

जब मुगलों से बचने के लिए मुस्लिम महिलाओं द्वारा जौहर किया गया

Bhatner Durg Hanumargarh
  मुस्लिम महिलाओं द्वारा भी जौहर का अनुष्ठान किये जाने के ऐतिहासिक प्रमाण राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के भटनेर दुर्ग में मिले है। 
  मुस्लिम महिलाओं द्वारा भी जौहर का अनुष्ठान किये जाने के ऐतिहासिक प्रमाण भटनेर के दुर्ग में मिले है। भटनेर दुर्ग का निर्माण भाटी राजवंश के शासक भूपत ने 295 ई. में करवाया था। इस दुर्ग का शिल्पी केकैया था। भाटी राजवंश द्वारा निमित होने के कारण इस दुर्ग का नाम भटनेर रखा गया था। यह दुर्ग पक्की ईटों और चूने से निर्मित होने के कारण तत्कालीन समय का सबसे मजबूत दुर्ग माना जाता था। राजस्थान के इतिहास में हनुमानगढ के भटनेर दुर्ग में मुग़ल आक्रांताओं से बचने के लिए मुस्लिम महिलाओं के जौहर करने की घटना हुई थी, जो इतिहास के पन्नों में आज भी दर्ज है।
  सन् 1398 में इस्लामी शासक तैमूर लंग ने आक्रमण कर भटनेर के शासक दूलचंद भाटी को हरा दिया था और भटनेर दुर्ग पर कब्जा कर लिया था। तैमूर के बर्बर आक्रमण और व्यापक पैमाने पर कत्लेआम से भयाक्रांत होकर हिन्दू महिलाओं ने ही नहीं, बल्कि अपनी अस्मत को बचाने के लिए मुस्लिम महिलाओं ने भी जौहर का अनुष्ठान किया था। ऐसा ऐतिहासिक प्रमाण मिलता हैं।

Ad Code