युवा मोर्चा का आरोप जिले में कांग्रेस के दो मंत्री होने के बावज़ूद घटनास्थल पर एक भी क्यों नहीं पहुंचा?

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

युवा मोर्चा का आरोप जिले में कांग्रेस के दो मंत्री होने के बावज़ूद घटनास्थल पर एक भी क्यों नहीं पहुंचा?

मौके पर पहुंचे तहसीलदार मृतक की पत्नि को दिया 12 लाख की आर्थिक सहायता का पत्र
प्राकृतिक आपदा से आहत परिवार से मिलने पहुंचे भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष
मृतक मोहन के परिवार मे जीवित बचे एक बेटे की पढाई सहित सारा खर्च उठाएगा युवा मोर्चा   
   
   बांसवाड़ा/कुशलगढ/राजस्थान।। राजस्थान के बांसवाड़ा जिले की कुशलगढ़ तहसील के भोराज गांव मे गत पांच जुलाई को प्राकृतिक आपदा आकाशीय बिजली गिरने से पिता, पुत्र और बेटी सहित तीन लोगो की आकस्मिक मौत होने से आहत पिडित परिवार से मिलने और ढांढस बंधाने भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष दीपसिंह वसुनिया, कुशलगढ नगरपालिका चैयरमेन बबलु भाई सहित युवा मोर्चा के कार्यकर्ता शुक्रवार को भोराज गांव पहुंचे तथा मृतक किसान पिता मोहन, बेटे राजपाल, बेटी सुनिता के निधन पर नम आंखो से श्रद्धा सुमन अर्पित किए। मौके पर पहुंचे युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने बिजली गिरे स्थान का मुआयना कर मृतक की पत्नि छगन और बारह वर्षिय पुत्र तेजपाल से मिल कर पिडित परिवार को ढांढस बंधाया।    
भाजपा युवा मोर्चा उठाएगा खर्च 
   इस दौरान युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष दीपसिंह वसुनिया ने कहा कि प्राकृतिक घटना इतनी ह्दय विदारक है, जिसके लिए शब्द नही है। वसुनिया ने पीड़ित परिवार को आश्वस्त करते हुए कहा की भाजपा युवा मोर्चा द्वारा मृतक मोहन के पुत्र तेजपाल की शिक्षा-दीक्षा सहित अन्य सारा खर्च भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता मिलकर उठाएंगे। 
Tahsildar Virendra Singh Rathore
संकट के समय क्यों गायब हो जाते है कांग्रसी नेता? 
   इस दौरान मिडिया से मुखातिब होते हुए युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष वसुनिया ने बताया कि जिले मे इतनी बडी घटना होने और जिले में कांग्रेस सरकार के दो-दो मंत्री होने के बावजूद भी अब तक पिडित परिवार के बीच वह लोग अभी तक पीड़ित परिवारों के पास सांत्वना देने और ढांढस बंधाने तक क्यों नहीं पहुंचे है? कार्यकर्ताओं का आरोप था की कांग्रेस पार्टी के यह नेता चुनाव में वोट लेने के लिए तो दूर-दराज तक पैदल ही पहुँच जाते है, लेकिन जब जनता को उनकी जरुरत पड़ती है तो ऐसे संकट के समय में ये मौकापरस्त कांग्रेसी नेता अक्सर गायब हो जाते है। वही मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने शासन-प्रशासन से भी पीड़ित परिवारों को हरसंभव आर्थिक सहायता देने की मांग रखी है।
यह रहे उपस्थित 
  इस दौरान भाजपा नगर मंडल महामंत्री रामकिशन मकवाना, वरसाला सरपंच भूरसिंह खराडी, युवा मोर्चा खेड़ा धरती मंडल अध्यक्ष अमर सिंह निनामा, खेड़ा धरती मंडल महामंत्री कालू निनामा, दिलीप डीडोर, आखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व छात्र संघ महासचिव आदि मौजूद रहे।
मृतक की पत्नि को 12 लाख की आर्थिक सहायता 
   भोराज मे चार दिन पूर्व आकाशीय बिजली गिरने की घटना पर शुक्रवार को कुशलगढ तहसीलदार विरेंद्रसिंह राठौड भी भोराज गांव पहुंचे तथा मृतको को भावुक ह्रदय से श्रंद्धाजलि देने के साथ उन्हें ढांढस बंधाकर बिजली गिरे मकान और दिवार सहित घटनास्थल का मौका मुआयना किया। इस दौरान राठौड़ ने मृतक की पत्नि छगन को आपदा राहत कोष से प्रति मृतक को चार-चार लाख रूपये हिसाब से कुल 12 लाख रुपयों की आर्थिक सहायता का पत्र मौके पर सौंपा। 
Tahsildar Virendra Singh Rathore
तहसीलदार ने बताया कैसे करें प्राकृतिक आपदा से अपना बचाव 
   कुशलगढ तहसीलदार वी.एस. राठौड ने श्रंद्धाजली देने आए मौजूद परिजनो और ग्रामीणो को बताया कि बारिश की शुरुआती मौसम मे बिजली गिरने का खतरा ज्यादा रहता है, ऐसे मे जब भी बारिश हो और बिजली कडकने की आवाज सुनाई दे तो तुरंत प्रभाव से पक्की छत का सहारा लेवे और जहा तक हो सके घर की बिजली के स्वीच और मोबाइल भी बंद कर लेवे, ताकि किसी प्रकार की हताहत या जनहानि नही हो। 
Tahsildar Virendra Singh Rathore
   तहसीलदार ने बताया कि बारिश के दौरान किसी भी पेड आदि का सहारा कदापि नही ले साथ ही जहा पानी जमा स्थान हो वहा से भी तुरंत दूर हो जाए। इस दौरान गिरदावर रामचंद्र देवदा, प्रकाश सौलंकी, पटवारी अशोक मुणिया भी मौजूद रहे। वही पिडित परिवार के मृतक मोहन के भाई मदन सिंह वडखिया ने बताया कि आकाशीय बिजली की घटना के दौरान परिवार के करीब दस लोग घर मे थे, जिसमे से तीन की जाने चली गयी और उनके भैया-भाभी भी इस घटना में घायल हो गये।

Ad Code