गहलोत सरकार ने धोखा देकर पांच साल निकाल दिए, अब शहरी जनता को बनाने चली है मज़दूर

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

गहलोत सरकार ने धोखा देकर पांच साल निकाल दिए, अब शहरी जनता को बनाने चली है मज़दूर

Ramila Khadiya shahari rozgar garanti yojna
  बांसवाड़ा/राजस्थान।। चोर और निकम्मी कांग्रेस ने विगत पांच वर्षो में भ्रष्टचार के आलावा कोई काम नहीं किया। अब जब चुनाव में हार सामने ही दिखाई दे रही है, भ्रष्ट कांग्रेस की सरकार को शहरी गरीबों की याद आ गई है। कांग्रेस के अशोक गहलोत ने चुनाव जितने के बाद लोगो को धोखे में रख कर कई लोक लुभावने वादे किये थे। शर्म की बात तो यह है कि उन्होंने अपने भरे बुढ़ापे में भी राजस्थान की भोली भाली जनता को शिक्षा, रोज़गार और स्वास्थ्य के नाम पर धोखा दिया। आपको बता दे की कांग्रेस की सरकार आने के बाद राज्य में दो वकीलो की मौत सरकार में फैले भ्रष्टाचार के कारण हो चुकी है। कांग्रेस राज में ना कोर्ट में न्याय है और ना ही पुलिस के पास न्याय के लिए जाना अब सुरक्षित है। भीख मंगी कांग्रेस सरकार में न्याय की बात ही अब बेमानी हो चुकी है। अब चुनाव है तो गहलोत को याद आ गया की चुनाव हार जाने के बाद जनता उनकी सरकार को गाठेगी नहीं। इसलिए पढ़ी-लिखी जनता को भी मज़दूर बनाने की योजना को आनन्-फानन में ही शहरो में शुरू कर दिया। हालांकि कांग्रेस राज़ में पूरी तरह लूट चुकी जनता का कहना है, कि चोर कांग्रेस ने इस तरह की योजना सिर्फ घपले करने के लिए शुरू की है, जिससे यह जनता के नाम पर आसानी से घपलेबाज़ी कर सके।  
शहरी गारंटी योजना का शुभारंभ
   राजस्थान जनजाती आयोग की शहरी गारंटी योजना का शुभारंभ, राजस्थान जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष एवं विधायक रमिला खड़िया द्वारा आज अंबेडकर भवन में इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना का शुभारंभ किया गया। शुभारंभ अवसर पर मौके पर 5 महिलाओं को जॉब कार्ड देखकर रोजगार भी दिया गया। इस अवसर पर विधायक ने कहा कि राजस्थान की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहर में भी गरीबों को रोजगार उपलब्ध कराने को लेकर विधानसभा में मांग उठाई थी, जिस पर राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने शीघ्र ही शहरी परियोजना में रोजगार गारंटी योजना लागू की। 
क्या करवाए जाएगे काम? 
   कुशलगढ़ नगर पालिका अधिशासी अधिकारी ने बताया कि विशेष मजदूरी भुगतान बैंक खाते से जॉब कार्ड हेतु परिवार के प्रत्येक सदस्य के आवेदन की आवश्यकता नहीं है, परिवार के सदस्य समूह बना सकते हैं। छाया, पानी, दवा आदि की भी कार्य के दौरान व्यवस्था रहेगी। साथ ही योजना प्रारंभ के बाद कार्यों की जानकारी भी रोजाना मेट से प्राप्त कर सकते हैं। 100 दिवस का रोजगार अपने शहर में ही रहेगा। योजना में अनुमत कार्य पर्यावरण संरक्षण का कार्य, सार्वजनिक स्थानों पर वृक्षारोपण कार्य, सार्वजनिक स्थानों पर लगे पौधों को पानी देने, श्मशान और कब्रिस्तान में वृक्षारोपण कार्य, नाली सफाई कार्य, जल संरक्षण कार्य, तालाब बावड़ी आदि की मिट्टी निकाल कर सफाई का कार्य इस प्रकार के निम्न कार्य रहेंगे। उन्होंने बताया की योजना के शुभारंभ पर 50 लोगों को इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी में मजदूरी देकर रोजगार पर लगाया गया है। अब आप ही बताइये की क्या एक प्रोफेशनल डिग्रीधारक क्या शहरों में इस योजना के तहत मज़दूरी करेगा।
Ramila Khadiya shahari rozgar garanti yojna
गहलोत सरकार ने जनता को धोखा देकर पांच साल निकाल दिए 
  राज्य की शिक्षा व्यवस्था को तबाह कर कांग्रेस सरकार राज्य की पढ़ी-लिखी जनता को अब मज़दूर बनाना चाहती है। आपको बता दे की हाल ही में गोविन्द सिंह डोटासरा जो कांग्रेस में शिक्षा मंत्री से लेकर राज्य के कांग्रेस पार्टी के अहम् पदों पर आसीन थे आज पूरी दुनिया जानती है कि उन्होंने आरएएस में अपने ही घर के बहु-बेटों सबको के एक ही बार में चयन करवा दिया है, इस बात को विपक्षी दलों ने भी कई बार उठाया है। वही अशोक गहलोत का खुद का बेटा राजस्थान क्रिकेट संघ का अध्यक्ष बना हुआ, उसके पास क्रिकेट को लेकर क्या खूबी है वह सोचने वाली बात है। वही गुजरात में महगाई को लेकर कांग्रेस के हल्ला बोल रैली की जयपुर में हुई मीटिंग में कांग्रेस ने प्रति व्यक्ति 2 हज़ार से ज्यादा जनता के टेक्स के रूपयो को होटल में ही फुक दिया था। वही अशोक गहलोत की सरकार रोज़गार गारंटी के नाम पर लोगो धोखा देने आ गई है। 
  वही इस योजना के उद्घाटन के अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष बबलू मईडा, नगर पालिका प्रतिपक्ष नेता रजनीकांत खाबिया, पार्षद जितेंद्र भाई, पार्षद नरेश गाजिया, पार्षद महेंद्र परमार, पार्षद दिलीप टेलर, पार्षद महावीर कोठारी, पार्षद संजय चौहान, पार्षद राहुल सोनी सहित कई लोग और नगर पालिका स्टाफगण उपस्थित थे। 

Ad Code