Headline News
Loading...

Ads Area

14 साल की नाबालिग का अपहरण कर सात लोगों ने बारी-बारी से बनाया पत्नी

चौदह साल की लड़की को सात लोगों ने बारी-बारी से बनाया पत्नी, 
जानिए कैसे दरिंदों के चुंगल से निकली पीड़िता
  डूंगरपुर/राजस्थान।। डूंगरपुर जिले के धम्बोला थाना क्षेत्र में एक 14 साल की नाबालिग का अपहरण कर बंधक बनाने बेचने और उसके साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोपियों के चंगुल से बचकर वापस घर लौटी पीड़िता ने धम्बोला थाने में चार दिन पहले ही मामला दर्ज करवाया था। जिसके बाद आज धम्बोला थाना पुलिस ने अपहरण कर बेचने वाले मुख्य आरोपी सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है। 
Dhambola Dungarpur
  डूंगरपुर जिले के धम्बोला थाने के थानाधिकारी हजारीलाल मीणा ने बताया कि थाना क्षेत्र निवासी की एक 14 वर्षीय नाबालिग ने 17 दिसम्बर 2022 को थाने में आकर उसके अपहरण,(kidnapping) बेचने और दुष्कर्म की रिपोर्ट दी थी. रिपोर्ट में पीड़िता ने बताया था कि एक साल पहले वो घर से दुकान समान लेने गई थी। इस दौरान उसे वहां पर अलवर निवासी गटुलाल अहारी बाइक लेकर मिला और घर छोड़ने का कहकर बाइक पर बैठा लिया. इसके बाद गटुलाल उसे इटाडी, मोडासा गुजरात ले गया। जहां पर गटुलाल ने मंजू नाम की एक महिला के सहयोग से उसे भरत मकवाना को 55 हजार रूपए में बेच दिया था। 
  इसके बाद नाबालिग भरत के पास लगभग एक माह तक रही। वहां से मंजू के सहयोग से नाबालिग को वापस लाया गया और उसे पुनावाडा निवासी मोहन पुत्र मगा डामोर को भी 55 हजार लेकर बेच दिया। इस दौरान मोहन ने 2 माह तक उसे पत्नी बनाकर रखा। वहीं इसके बाद एक अन्य महिला के सहयोग से गटुलाल ने वापस पीड़िता को महिला के मामा के लड़के रामा डामोर को बेच दिया। 
Dhambola Dungarpur
  जहां पर रामा ने उसे 3 माह तक पत्नी बनाकर रखा। वही 3 माह बाद वाली ने नाबालिग को वापस गटु को सौंप दिया। इसके बाद गटू ने बांसवाड़ा निवासी अपने भांजे लक्ष्मण के चचेरे भाई हकरू को बेच दिया। जहां पर हकरू ने उसे 2 माह तक रखते हुए उसके साथ दुष्कर्म किया। 
  इधर नाबालिग के साथ अत्याचार का सिलसिला यही नहीं रुका। नाबालिग को गटुलाल ने एमपी निवासी कमल नाम के युवक को बेच दिया। कुछ दिन नाबालिग कमल की पत्नी बनाकर रही. जहां पर एक दिन नाबालिग को कमल बाजार में समान लेने के लिए साथ ले गया, जहां पर नाबालिग ने मौका देख कर एक होटल वाले के पास गई और अपनी पीड़ा बताई। जिस पर होटल वाले पीड़िता को एमपी की बाजणा पुलिस को सुपुर्द किया। इधर नाबालिग मिलने की सूचना पर धंबोला पुलिस के सहयोग से नाबालिग के परिजन रतलाम गए और अपनी नाबालिग बेटी को लाकर धंबोला थाने में मामला दर्ज कराया था। 
   वही पुलिस ने पीड़िता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया और अनुसन्धान करते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपी अलवर निवासी गटुलाल पुत्र गोमना अहारी व पुनावाडा निवासी एक खरीददार मोहन पुत्र मगा डामोर को गिरफ्तार किया है. पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। 

Post a Comment

0 Comments