शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने का घरेलु उपाय क्या है?

Breaking News

10/recent/ticker-posts

Ad Code

शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने का घरेलु उपाय क्या है?

शरीर में ऑक्सीजन की कितनी मात्रा होनी चाहिए

   कोरोना के इस काल में बाजारों में ऑक्सीमीटर की मांग इतनी ज्यादा बढ़ गई है की लोग इसकी कालाबाजारी करने लगे हैं ऑक्सीमीटर को दोगुनी कीमत पर बेच रहे दुकानदार लेकिन अधिकांश लोगों को यह भी नहीं पता है की ऑक्सीमीटर की आवश्यकता किन-किन परिस्थितियों में होती है और इसका कार्य क्या होता है।
    कोरोनावायरस covid-19 के लगातार बढ़ते संक्रमण के चलते लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं, और इस संक्रमण से बचने के लिए हर कोई प्रयास कर रहा है। कोरोना संक्रमण के मुख्य लक्षणों में शरीर में ऑक्सीजन के स्तर में कमी मानी जाती है।
    इसलिए जानकार लोग इसे घरों में ऑक्सीजन के स्तर को मापने के लिए ऑक्सीमीटर रखने तथा इस्तेमाल करने की सलाह दे रहे हैं। जिसके कारण बाजार में पल्स ऑक्सीमीटर की मांग अचानक काफी ज्यादा बढ़ गई। आजकल ऑक्सीमीटर भी हर घर की मेडिकल किट का हिस्सा बन गया है।
आइए जानते हैं क्या है ऑक्सीमीटर तथा उसका उपयोग
   ऑक्सीमीटर एक प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जिसमें लगे सेंसर रक्त में ऑक्सीजन के प्रवाह का स्तर जांचते और बताते हैं। ऑक्सीमीटर को उंगली या कान पर क्लिप की तरह लगाया जाता है।ऑक्सीमीटर शरीर पर एक विशेष प्रकार की रोशनी की मदद से रक्तकणों की गति तथा उनके रंग की जांच के आधार पर ऑक्सीजन के स्तर और उसकी स्थिति को मापता है।
   ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन के स्तर के साथ-साथ हमारे दिल की धड़कनों को भी जांचता है।ऑक्सीमीटर एक छोटी सी मशीन होती है, जिसको आप अपनी जेब मे भी रख सकते है जो दिखने में किसी क्लिप के समान लगती है। जांच के दौरान ऑक्‍सीमीटर में अपनी उंगली को बताए गए निर्देशों के अनुसार रखा जाता है
   यह जरूरी है की उंगली मशीन में सही तरह से रखी जाए, और जांच करते समय उंगली को हिलाया ना जाए। अगर इसे ठीक से उपयोग ना किया जाए तो रीड‍िंग गलत हो सकती है।ऑक्सीमीटर का उपयोग अस्पतालों में ऑपरेशन और इन्टेन्सिव केयर के दौरान भी जरूरी माना जाता है। क्योंकि यह तुरंत आपको शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा को बता देता है
ऑक्सीजन की मॉनिटरिंग की अहमियत
   कोरोना के पीड़ित मरीजों में ऑक्सीजन के स्तर की नियमित जांच और निगरानी बहुत जरूरी होती है जब कोई व्यक्ति कोरोना से संक्रमित होता है, तो उसके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर लगातार कम होने लगता हैं और उसे सांस लेने में काफी तकलीफ होने लगती है।
   ऐसे में कोरोना से संक्रमित होने की आशंका को जाँचते हुए ऑक्सीमीटर से अपने शरीर की ऑक्सीजन की मात्रा नापते है। 
आइए जानते हैं शरीर में ऑक्सीजन की कितनी मात्रा होनी चाहिए
    डॉक्टरों की माने तो रक्त में यदि ऑक्सीजन की मात्रा 95 % से 100 % की रेंज में हो, तो ये सामान्य मानी जाती है। लेकिन यदि कोरोना संक्रमितों में ऑक्सीजन का स्तर 90 % या उससे कम होता है, तो यह संकेत सही नहीं है। ऑक्सीजन स्तर का लगातार कम होना खतरनाक है, स्थिति ज्यादा खराब होने पर संक्रमित मरीज को अस्पताल में एडमिट करवाना चाहिए। 
शरीर में ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के उपाय
इंडोर प्लांट्स लगाएं
    घर के गार्डन में पड़े का काम सिर्फ घर को खूबसूरत बनाना ही नहीं होता साथ ही ये पौधे कार्बन डाइऑक्साइड को लेकर हमें ऑक्सीजन देते है तो अपने घर में गार्डन प्लांट लगाए जैसे ऐलोवेरा, मनी प्लांट, जैसे पौधे जरूर लगाए। 
अपने रोज के खाने में आयरन से भरपूर चीज़े खाएं
   हेल्दी और अनहेल्दी खाने का बहुत ज्यादा और जल्द असर हमारे शरीर पर दिखता है। इसलिए सेहतमंद रहने के लिए हमेशा अपने खानपान सुधारने की सलाह दी जाती है। तो रक्त में ऑक्सीजन का लेवल बढ़ाने और उसे बनाये रखने के लिए आयरन से भरपूर चीज़ों को अपनी डाइट में शामिल करें। हरी पत्तेदार सब्जियां खासतौर से पालक, दालें, मीट, अंडा, मछली जैसी चीजें। ये शरीर में आयरन की कमी को पूरा करते हैं, जिससे ब्लड में ऑक्सीजन का लेवल सुधरता है।
नियमित रूप से योगा, एक्सरसाइज करें
    शरीर के लिए एक्सरसाइज हमेशा से ही सेहत के लिए जरूरी माना गया है लेकिन लोगों को कोरोना महामारी में खासतौर से इसकी अहमियत समझ आई। अगर आप शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ना चाहते है तो रोजाना 30-40 मिनट का समय निकाल कर एक्सरसाइज करें।
   एक्सरसाइज करने से श्वसन क्षमता बेहतर होती है और हमारे फेफड़े स्वस्थ रहते है क्योंकि उस दौरान आप तेज गति से सांंस ग्रहण करते और छोड़ते हैं। जिसके फेफड़े ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन ले पाते हैं। और फेफड़े स्वस्थ्य रहते है। 
रोजाना भरपूर मात्रा में पानी पिये
   शरीर में ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिक्विड की मात्रा बढ़ाइए खासतौर से पानी का। और साथ मे ऐसे फल खाइये जिनमे अधिक मात्रा में पानी होता है जब आप लिक्विड्स का सेवन करते है तो आप हाइड्रेटेड रहते हैं और अपने बॉडी में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ा सकते हैं।




Ad Code